Saturday, 21 Oct, 7.59 am Sportzwiki

होम
यह है क्रिकेट जगत के इतिहास में 40,000 रन और 4,000 विकेट लेने वाला इकलौता आलराउंडर खिलाड़ी

क्रिकेट के इतिहास में कई ऐसे दिग्गज आलराउंडर क्रिकेटर हुए हैं, जिन्होंने अपनी बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों ही स्तरों पर शानदार प्रदर्शन के बल पर क्रिकेट जगत के आयाम को ही बदल डाला।

ऐसे ही एक स्टार खिलाड़ी, जिसने बल्लेबाजी के साथ गेंदबाजी में भी जबरदस्त खेल का प्रदर्शन करते हुए कई सारे रिकाॅर्ड बनायें और अपना नाम हमेशा के लिए इतिहास के पन्नों में दर्ज करा लिया। इस दिग्गज का नाम है विल्फ्रेड रोड्स

जबरदस्त रहा क्रिकेट कैरियर का आगाज

साल 1877 में याॅर्कशायर के कर्कहीटन शहर में जन्में विल्फ्रेड रोड्स ने अपने क्रिकेट कैरियर की शुरूआत बतौर स्पिनर गेंदबाज के रूप में शुरु की। जिसके बाद अपने जबरदस्त गेंदबाजी के दम पर उनका चयन काउंटी एकादश की मुख्य टीम में हो गया।

याॅर्कशायर टीम से खेलने वाले रोड्स ने अपने क्रिकेट कैरियर के शुरूआती घरेलू मैच में ही 154 विकेट झटक लिए। जिसके बाद उनके इस उपलब्धि के बाद साल 1899 में विसडेन क्रिकेटर आॅफ द इयर खिताब से नवाजा गया।

हालांकि रोड्स ने अपने गेंदबाजी का जलवा बरकरार रखा और साल 1900 से 1902 के बीच 14 के बेहतरीन गेंदबाजी के औसत से 725 विकेट झटक लिए, जिसमें 68 बार 5 विकेट और 21 बार 10 विकेट हासिल किए हैं।

बल्लेबाजी में बना डाले ये रिकाॅर्ड

रोड्स द्वारा कुछ सालों के क्रिकेट खेलने के बाद अपनी गेंदबाजी के साथ बल्लेबाजी के प्रदर्शन पर भी सुधार कर लिया और साल 1904-05 में एक ही सत्र के खेल में 1500 रनों से ज्यादा ठोक डाला। साथ ही इसी बीच 100 से भी ज्यादा विकेट लेने का कीर्तिमान बना डाला।

आलरांडर प्रदर्शन के मामले में बनें इकलौते क्रिकेटर

विल्फ्रेड रोड्स ने अपने प्रथम श्रेणी के क्रिकेट कैरियर में जबरदस्त खेल का प्रदर्शन दिखाया। एक हजार से भी ज्यादा क्रिकेट मैच खेल चुके रोड्स ने अपने कैरियर के दौरान कुल 39,969 रन बनाए, वहीं अपनी फिरकी गेंदबाजी के दम पर 4204 विकेट झटककर विपक्षी टीम के बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखा दिया।

आईसीसी ने दिया हाॅल आॅफ फेम की उपाधि

अपने क्रिकेट कैरियर में गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों ही स्तरों पर बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले विल्फ्रेड रोड्स ने क्रिकेट जगत में एक नई क्रान्ति ले आयी, जिसके चलते उन्हें आनरेरी लाइफ मेम्बरशिप की उपाधि प्रदान की गयी, साथ ही साल 2009 में आईसीसी द्वारा उन्हें क्रिकेट हाॅल आॅफ फेम में भी शामिल कर लिया गया।

साल 1973 में उनका देंहात 95 साल की उम्र में हो गया और इस प्रकार एक दिग्गज क्रिकेटर हमेशा के लिए इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: SPORTZWIKI hindi
Top