Monday, 30 Mar, 6.26 am उदयपुर किरण

इंडिया
करेंसी नहीं, सिर्फ डिजिटल लेनदेन करें, दास ने सुझाया कोरोना से बचने का तरीका

नई दिल्ली (New Delhi) . कोरोना (Corona virus) के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए पूरे देश में 21 दिनों का लॉकडाउन (Lockdown) लागू है. इस महामारी से बचने एकमात्र उपाय सोशल डिस्टेंसिंग है और सरकार (Government) जनता से लॉकडाउन (Lockdown) का सख्ती से पालन करने की अपील कर रही है. इस बीच भारतीय रिजर्व बैंक (Bank) (आरबीआई (Reserve Bank of India)) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने एक वीडियो संदेश जारी किया है. उन्होंने इस महामारी से बचाव के लिए फिलहाल डिजिटल लेन-देन की अपील है.

कोरोना के खिलाफ मध्य रेल की लड़ाई जारी, आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति हेतु भारतीय रेल प्रयासरत

उन्होंने कहा कोरोना (Corona virus) देश के लिए हर तरह से बड़ा संकट है और बचाव ही एकमात्र उपाय है. वीडियो में दास ने कहा कि कोरोना (Corona virus) की वजह से देश संकट के दौर से गुजर रहा है, ऐसे में लोग घर पर रहकर ही डिजिटल ट्रांजैक्शन करें. इसके लिए डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड और मोबाइल ऐप के जरिए लेन-देन करें. आरबीआई (Reserve Bank of India) गवर्नर ने कहा कि डिजिटल लेन-देन करें और सुरक्षित रहें. एक तरह से उन्होंने देश के लोगों को करेंसी में लेन-देन कम करने अपील की है. इसके लिए डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड और मोबाइल ऐप के जरिए ट्रांजैक्शन की सलाह दी गई है. गौरतलब है कि कोरोना (Corona virus) को रोकने के लिए देश में सभी तरह के उपाय किए जा रहे हैं.

कोरोना: 1 हफ्ते में सवा 3 गुना बढ़ा संक्रमण, अब तक 1030 संख्या, 27 की मौत

लॉकडाउन (Lockdown) के बीच अगर लोग करेंसी का लेन-देन ज्यादा करेंगे तो एक-दूसरे के संपर्क में आए बिना यह संभव नहीं है और इससे कोरोना (Corona virus) फैलने का डर बना रहेगा. ऐसे में डिजिटल लेनदेन बिल्कुल सुरक्षित है. गौरतलब है कि कोरोना (Corona virus) संकट से जूझ रहे लोगों को राहत देने के लिए आरबीआई (Reserve Bank of India) ने इसी हफ्ते बड़ा ऐलान किया है. शक्तिकांत दास ने रेपो रेट में 0.75 फीसदी की कटौती का ऐलान किया है. इसके अलावा होम लोन और कार लोन के ग्राहकों को राहत देते हुए 3 महीने की ईएमआई बाद में भुगतान की सहूलियत दी है.

5 साल में बनकर तैयार होगा अलीगढ़-हरदुआगंज फ्लाईओवर

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Udaipur Kiran Hindi
Top