Thursday, 14 Jan, 11.33 am UPUK Live

राष्ट्रीय समाचार
इस राज्य में बर्ड फ्लू ने मचाया कोहराम, 443 पक्षियों की मौत

बर्ड फ्लू से देश के कई राज्यों में अफरातफरी मच गई। इस महामारी को देखते हुए, सरकार ने राज्यों को सलाह जारी करने का निर्देश दिया है। इस बीच, राजस्थान में कल या बुधवार को 443 और पक्षियों की मौत हो गई। राजस्थान के 33 जिलों में से 16 जिले बर्ड फ्लू से प्रभावित हैं। जांच के लिए भेजे गए 251 नमूनों में से 62 नमूनों में संक्रमण पाया गया है। पशुपालन विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार को 296 कौवे, 34 कबूतर, 16 मोर और 97 अन्य पक्षियों की मौत हो गई। रिपोर्ट के मुताबिक, 25 दिसंबर के बाद से अकेले राजस्थान में 4,390 पक्षियों की मौत हुई है।

अधिकारियों द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार, राज्य का पोल्ट्री फार्म अभी भी बर्ड फ्लू के संक्रमण से सुरक्षित है। पिछले कुछ दिनों में, विभाग ने कोटा, बूंदी और झालावाड़ पोल्ट्री फार्मों के नमूने जांच के लिए भेजे थे और रिपोर्ट में नमूनों में कोई संक्रमण नहीं पाया गया था। उन्होंने बताया कि उदयपुर जिला इसलिए भी सुरक्षित है क्योंकि वहां अभी तक मृत पक्षी नहीं मिले हैं। इन्फ्लूएंजा बर्ड फ्लू के मद्देनजर, DAHD के सचिव की अध्यक्षता में एक वीडियो कॉन्फ्रेंस की बैठक हुई, जिसमें 17 राज्यों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। इस बैठक में, बैठक में राज्यों को सलाह दी गई कि वे अपने संबंधित राज्यों में एवियन इन्फ्लूएंजा यानि बर्ड फ़्लू के प्रसार को रोकने के लिए प्रभावी व्यवस्था करें ताकि 2021 की कार्ययोजना बनाई जा सके।

इन्फ्लूएंजा बर्ड फ्लू की स्थिति से निपटने के लिए राज्यों के लिए एडवाइजरी जारी की गई है। इस एडवाइजरी में स्वास्थ्य और वन विभाग के साथ समन्वय करने और उन्हें इस मामले में संवेदनशील बनाने के लिए कहा गया है। राज्यों को सुरक्षा उपकरणों की पर्याप्त आपूर्ति बनाए रखने और पोल्ट्री फार्मों में जैव सुरक्षा उपायों को जारी रखने के लिए भी कहा गया है। राज्यों को यह भी निर्देश दिया गया है कि वे संक्रमण का पता लगाने और समय पर नियंत्रण प्रणालियों को तेज करने के लिए राज्य-स्तरीय बीएसएल- II प्रयोगशालाओं की पहचान करें।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: UPUKLive
Top