Saturday, 23 Jan, 9.04 pm वेबदुनिया

मुख्य समाचार
सात और राज्यों में भी अगले सप्ताह से लगेगी कोवैक्सीन

पुनः संशोधित शनिवार, 23 जनवरी 2021 (21:04 IST)

नई दिल्ली। अब तक देश के 12 राज्यों में कोविशील्ड और कोवैक्सीन के टीके लगाए जा रहे हैं लेकिन अगले सप्ताह से देश के अन्य 7 राज्यों में भी भारत बायोटेक द्वारा निर्मित पूर्ण स्वदेशी वैक्सीन लगायी जाएगी।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की आज शाम हुई नियमित प्रेस ब्रीफिंग में अतिरिक्त स्वास्थ्य सचिव डॉ. मनोहर अगनानी ने बताया कि भारत बायोटेक द्वारा निर्मित कोवैक्सीन फिलहाल देश के 12 राज्यों में लोगों को लगाई जा रही है। अगले सप्ताह से देश के सात अन्य राज्यों, झारखंड, केरल, मध्यप्रदेश, पंजाब, पश्चिम बंगाल, गुजरात और छत्तीसगढ़ में भी कोवैक्सीन लगाई जायेगी।

डॉ. अगनानी ने बताया कि इन सभी 7 राज्यों के टीकाकरण प्रबंध अधिकारियों के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय तथा केंद्रीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद् (आईसीएमआर) ने आज संयुक्त रूप से ओरिएंटेशन प्रोग्राम आयोजित किया।

डॉ. अगनानी ने बताया कि 23 जनवरी शाम 6 बजे तक देशभर में 15,37,190 लोगों को कोरोनावायरस का टीका दिया गया है और 27,776 सत्रों का आयोजन किया गया है। देशभर के 27 राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों में आज कोरोना के टीके लगाए गए। आज शाम 6 बजे तक देशभर में कुल 1,46,598 लोगों को टीका लगाया गया।

डॉ. अगनानी ने बताया कि भारत में तैयार की गई कोरोना वैक्सीन को इस्तेमाल करने वाले 13 देशों बहरीन, बंगलादेश, भूटान, ब्राजील, मालदीव, मॉरीशस, मंगोलिया, मोरक्को, म्यांमार, नेपाल, ओमान, सेशेल्स और श्रीलंका के टीकाकरण प्रबंधन अधिकारियों को स्वास्थ्य मंत्रालय ने टीकाकरण संबंधी सभी पहलुओं पर दो दिवस प्रशिक्षण दिया।

उन्होंने बताया कि टीकाकरण के बाद अब तक 11 लोग अस्पताल में भर्ती हुए हैं। इस तरह टीकाकरण के बाद भर्ती होने वाले लोगों का प्रतिशत महज 0.0007 है। पिछले 24 घंटे के दौरान आंध्रप्रदेश के गुंटूर जिले के सरकारी अस्पताल में एक व्यक्ति को भर्ती कराया गया है। उक्त व्यक्ति को 20 जनवरी को कोरोनावायरस का टीका लगा था। टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से टीका लगाने वाले अब तक 6 लोगों की मौत हुई है।

मंत्रालय का कहना है कि इनमें से कोई भी मौत टीका लगाने से संबंधित नहीं है। पिछले 24 घंटे के दौरान हरियाणा के गुरुग्राम में एक 56 वर्षीय महिला की मौत हुई है और यह मामला कोरोना टीकाकरण से जुड़ा नहीं हुआ है। मंत्रालय का कहना है कि अब तक कोरोना टीकाकरण के कारण किसी व्यक्ति के गंभीर रूप से बीमार पड़ने और मृत्यु होने की खबर नहीं मिली है। (वार्ता)

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Webduniya Hindi
Top