Saturday, 28 Sep, 9.30 pm हिन्दुस्थान समाचार

राष्ट्रीय
अमेरिका से लौटने पर नरेन्द्र मोदी ने तीन वर्ष पहले हुई सर्जिकल स्ट्राइक के शौर्य और पराक्रम को किया याद

अमेरिका से लौटने पर नरेन्द्र मोदी ने तीन वर्ष पहले हुई सर्जिकल स्ट्राइक के शौर्य और पराक्रम को किया याद

नई दिल्ली, 28 सितम्बर (हि.स.)।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का अमेरिका में 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम और संयुक्त राष्ट्र महासभा में संबोधन के बाद शनिवार रात स्वदेश लौटने पर भव्य स्वागत किया गया। इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरने के बाद भाजपा नेताओं ने उनका भव्य स्वागत किया।

हवाई अड्डा परिसर से बाहर निकालने पर हजारों उत्साही भाजपा कार्यकर्ताओं और आम जन ने 'मोदी-मोदी' नारों के बीच उनका जोरदार स्वागत किया। परिसर के बाहर बनाए गए एक मंच से मोदी ने जनसमुदाय के सामने संक्षिप्त संबोधन दिया। मंच पर भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा और दिल्ली के भाजपा सांसद उपस्थित रहे। मोदी ने अपने संबोधन में उरी सैन्य शिविर पर हुए हमले के जवाब में भारतीय जवानों की साहसिक सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि 28 सितम्बर,2016 को वह पूरी रात जागते रहे। उन्हें कभी भी टेलीफोन की घंटी बजने का इंतजार था। यह वही समय था जब भारत के जवानों ने सीमापार आतंकी ठिकानों को नष्ट करने के साहसिक काम को अंजाम दिया था। उन्होंने मौत को मुट्ठी में लेकर शौर्य और साहस का प्रदर्शन करने वाले भारतीय जवानों के प्रति कृतज्ञता व्यक्त की। मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक को देश के सैन्य इतिहास में स्वर्णिम अध्याय बताते हुए कहा कि इससे देश की आन-बान-शान उजागर हुई।

प्रधानमंत्री ने अपनी अमेरिका यात्रा विशेषकर ह्यूस्टन में आयोजित 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम की चर्चा करते हुए कहा कि यह आयोजन अपनी विशालता, व्यापकता और भव्यता की दृष्टि से अभूतपूर्व था। इस कार्यक्रम में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी शामिल हुए। यह सफल आयोजन दुनिया में प्रवासी भारतीयों के बढ़ते असर और विभिन्न देशों में उनकी सफलता को मान्यता दिए जाने का परिचायक है।

मोदी ने अपने पहले कार्यकाल के दौरान वर्ष 2014 में हुई अमेरिका यात्रा और हाल में संपन्न यात्रा की तुलना करते हुए कहा कि उन्होंने इस बार दुनिया में भारत के बढ़ते प्रभाव का स्पष्ट दर्शन किया। यह सब वर्ष 2019 के दौरान मतदाताओं के निर्णायक जनादेश से ही संभव हो पाया।

रविवार से शुरू हो रहे नवरात्र पर्व का उल्लेख करते हुए मोदी ने देशवासियों को शक्ति उपासना के इस त्यौहार पर बधाई और शुभकामना दीं।उन्होंने कहा कि अमेरिका यात्रा संपन्न होने के बाद वह फिर अपने काम में लग जाएंगे।

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कश्मीर मुद्दे को लेकर संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के प्रलाप की कोई चर्चा नहीं की।

हवाई अड्डा परिसर से कुछ दूर तक मोदी सड़क के दोनों ओर एकत्र लोगों का अभिवादन स्वीकार करते हुए पैदल चले। बाद में वह अपने वाहन के जरिए सात लोक कल्याण मार्ग स्थित आवास के लिए रवाना हो गए।


हिन्दुस्थान समाचार/अजीत/सुफल

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Hindusthan Samachar
Top