Sunday, 31 Mar, 7.10 am हिन्दुस्थान समाचार

उत्तराखंड
पतंजलि पहुंचने पर जॉर्जिया के राजदूत का किया गया स्वागत

हरिद्वार, 31 मार्च (हि.स.)। जॉर्जिया के राजदूत अर्चिल जुलियासविली रविवार को पतंजलि योगपीठ पहुंचे। पतंजलि पहुंचने पर आचार्य बालकृष्ण ने अर्चिल का शॉल ओढ़ाकर स्वागत किया। इस अवसर पर अर्चिल ने आचार्यश्री से पतंजलि की विभिन्न सेवापरक गतिविधियों का जायजा लिया। श्री अर्चिल ने पतंजलि आयुर्वेद हॉस्पिटल स्थित आधुनिक पैथोलॉजी लैब का भ्रमण कर पतंजलि के शोधपरक व विज्ञानिक आधार पर आधारित आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति की सराहना की। पतंजलि अनुसंधान संस्थान का भ्रमण कर जॉर्जियाई राजदूत ने पतंजलि की अनुसंधानपरक गतिविधियों की प्रशंसा करते हुए कहा कि आयुर्वेद में क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल करने वाली पतंजलि एकमात्र संस्था है। उन्होंने पतंजलि अनुसंधान संस्थान का भ्रमण कर कहा कि पतंजलि में भारतीय चिकित्सा पद्धति तथा विज्ञान का अभूतपूर्व समावेश है। इस अवसर पर आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि पतंजलि का प्रत्येक कार्य समाज व राष्ट्र की सेवा के लिए समर्पित है। पतंजलि का उद्देश्य प्रत्येक क्षेत्र में देश को स्वावलम्बी बनाना है। शिक्षा, चिकित्सा, रोजगार, जैविक कृषि, पशुपालन आदि क्षेत्रें में पतंजलि पूर्ण मनोयोग से कार्य कर रही है।

शिक्षा के क्षेत्र में आचार्यकुलम्, पतंजलि विश्वविद्यालय तथा पतंजलि आयुर्वेद कॉलेज देश के युवाओं को न्यून शुल्क पर बेहतर शिक्षा उपलब्ध करा रहे हैं। पतंजलि के माध्यम से लाखों बेरोजगारों को प्रत्यक्ष व परोक्ष रूप से रोजगार सुलभ हुआ है। चिकित्सा के क्षेत्र में पतंजलि आयुर्वेद हास्पिटल के साथ-साथ देश में लगभग 1500 से ज्यादा चिकित्सालयों पर चिकित्सक निःशुल्क चिकित्सकीय परामर्श उपलब्ध करा रही है। उन्होंने कहा कि पतंजलि राष्ट्रहित को सर्वोपरि मानकर देशसेवा का हर सम्भव प्रयास कर रही है। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत/राजेश/सुनीत
Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Hindusthan Samachar
Top