Monday, 25 Jan, 10.18 am आउटलुक

होम
कोरोना काल: भारत के 100 अमीरों की बढ़ गई 13 लाख करोड़ संपत्ति, जबकि हर घंटे 1,70,000 लोगों की गई नौकरी

एक तरफ कोरोना महामारी की वजह से दुनियाभर के देशों की अर्थव्यवस्था पटरी से उतर गई है। करोड़ों लोगों को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा है। वहीं, मानवाधिकार समूह ओक्सफैम ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि कोरोना संकट की वजह से असमानता की खाई और चौड़ी होती जा रही है। रिपोर्ट में बताया गया है कि इस दौरान अमीर लोग और ज्यादा अमीर हो रहे हैं, जबकि इस महामारी के चलते गरीबी के दलदल में फंसे अरबों लोगों को इससे उबरने में वर्षों लग सकते हैं।

"इनइक्वालिटी वायरस" नाम से जारी इस रिपोर्ट में बताया गया है कि दुनिया के 1000 सबसे अमीर लोगों ने अपने नुकसान को 9 महीने के अंदर ही हासिल कर लिया, लेकन गरीब लोगों को अपनी हालत सुधारने में लंबे समय लग सकते हैं।

ऑक्सफैम के गणित के मुताबिक बीते साल मार्च के बाद केंद्र ने संभवतः दुनिया के मुकाबले सबसे सख्त लॉकडाउन की घोषणा की। इस बीच देश के टॉप 100 अरबपतियों के एसेट में 12.97 ट्रिलियन रुपए की वृद्धि हुई। ये इतना पैसा है कि 138 मिलियन भारतीयों को 94,045 रुपए दिए जा सकते हैं। वहीं, अप्रैल 2020 के महीने में हर घंटे 1,70,000 लोगों ने अपनी नौकरी खो दी।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Outlook Hindi
Top