Thursday, 25 Feb, 2.03 am पीपुल्स समाचार

भोपाल
बिजली कंपनी की बड़ी लापरवाही, 80 साल के बुजुर्ग को 2 माह का बिल कार्टून कोना "80 करोड़ भेजा, सदमा लगा तो अस्पताल में कराना पड़ा था भर्ती

मुंबई। मुंबई के वसई में रहने वाले 80 साल के एक बुजुर्ग को बिजली कंपनी एमएसईडीसीएल ने 2 माह का 80 करोड़ 13 लाख 89 हजार 6 रुपए बिल भेज दिया, जिसके बाद उन्हें ब्लड प्रेशर बढ़ने के कारण अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। बाद में वे डिस्चार्ज हो गए। गणपत नाइक का परिवार वसई में 20 साल से चावल मिल चला रहा है। लॉकडाउन के कारण धंधा खत्म हो गया है। इतने भारी बिल के बाद परिवार परेशान हो गया है।

हर माह सिर्फ 54 हजार बिल आया1

इधर, नाइक ने कहा, बिजली विभाग ऐसा कैसे कर सकता है। बिल भेजने से पहले क्या मीटर चेक नहीं किया गया? अब तक हर माह ज्यादा से ज्यादा बिजली का बिल 54 हजार आया है। लॉकडाउन के दौरान मिल कई महीनों से बंद थी। इसके बावजूद दिसंबर और जनवरी का इतना बिल आखिर कैसे आ सकता है? बिजली विभाग की सफाई : वहीं महाराष्ट्र स्टेट इलेक्ट्रिसिटी डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड ने बुधवार को कहा, यह अनजाने में हुआ है। जल्द ही इस गलती को सुधार लिया जाएगा। एमएसईडीसीएल के एडिशनल एग्जीक्यूटिव इंजीनियर सुरेंद्र मुंगारे ने कहा, ये गड़बड़ी बिजली मीटर की रीडिंग लेने वाली एजेंसी की तरफ से हुई है। इसकी जांच की जा रही है। एजेंसी ने 6 की बजाय 9 अंकों का बिल बना दिया था। बता दें कि बिजली के लगातार बढ़े हुए बिल को मुद्दा बनाकर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना पिछले कुछ महीनों से आंदोलन कर भी रही है।

सोशल मीडिया और OTT प्लेटफॉर्म के लिए दिशानिर्देश जारी, 24 घंटे के अंदर हटाना होगा आपत्तिजनक पोस्ट

भारत-पाकिस्तान के मध्य संबंध सुधारने की पहल, दोनों देशों के डीजीएमओ के बीच मीटिंग; जानें किन समझौतों पर बनी बात

इलेक्ट्रिक स्कूटर पर बैठकर सचिवालय पहुंचीं ममता, पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों का किया विरोध

फिर बढ़े गैस सिलेंडर के दाम, फरवरी में तीसरी बार हुआ महंगा, यहां जानें रेट

पीएम मोदी का पुडुचेरी दौरा: बोले-किसानों को उनकी उपज का अच्छा दाम मिले यह हमारा कर्तव्य

महाराष्ट्र में कोरोना से हाहाकार: वाशिम जिले में मिले 318 मरीज, इनमें 229 स्टूडेंट

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Peoples Samachar
Top