Monday, 25 Jan, 10.40 am Punjabkesari.com

होम पेज
राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी की आलोचना करते हुए कहा-चीनी सैनिक भारतीय क्षेत्रों पर कर रहे हैं कब्जा

तमिलनाडु में अपने प्रचार के दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को आरोप लगाए कि चीन के सैनिकों ने भारतीय क्षेत्रों पर कब्जा कर लिया है और ''56 ईंच सीना'' रखने वाले व्यक्ति पड़ोसी देश का नाम तक नहीं ले सकते हैं। तमिलनाडु के तीन दिवसीय दौरे में यहां और पास के इरोड में सभाओं को संबोधित करते हुए उन्होंने आरोप लगाए कि मोदी महज पांच या छह उद्यमियों के लिए देश का शासन चला रहे हैं। राज्य में अगले कुछ महीने में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।

पश्चिमी जिलों में प्रचार अभियान पर निकले गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों, मजदूरों या सूक्ष्म, लघु या मध्यम श्रेणी के उद्यमियों के लिए नहीं है जो देश का भाग्य हैं। उन्होंने कहा, ''पहली बार भारत के लोग देख रहे हैं कि चीन की सेना भारतीय क्षेत्रों पर कब्जा कर रही है। आज हम जब यहां बात कर रहे हैं उस समय हजारों चीनी सैनिक हमारे क्षेत्रों पर कब्जा कर रहे हैं और 56 ईंची सीने वाला व्यक्ति चीन का नाम तक नहीं ले सकता है। यह हमारे देश की हकीकत है।''

उन्होंने आरोप लगाए कि चीनी समझते हैं कि मोदी ''कमजोर हैं और देश की अर्थव्यवस्था को नष्ट कर दिया है और इसलिए वे हमारी सीमा के अंदर हैं।'' उन्होंने दावा किया कि प्रधानमंत्री ने देश को कमजोर कर दिया है क्योंकि वह लोगों के लिए काम नहीं करते बल्कि अपने पांच-छह उद्योगपति दोस्तों के लिए काम करते हैं और इस तरह की कमजोर स्थिति के कारण 'चीन अंदर आ गया है'। लोगों से खुद को जोड़ने और भाजपा पर प्रहार करने के लिए 'तमिल भाषा और संस्कृति' का जिक्र करते हुए कांग्रेस सांसद ने कहा कि वह दिल्ली में तमिल लोगों का रखवाला बनना चाहते हैं और कहा कि वह भगवा दल को तमिल संस्कृति का अपमान नहीं करने देंगे।

उन्होंने कहा कि तमिलनाडु के साथ उनका संबंध गैर राजनीतिक, पारिवारिक मित्रता और ''प्यार, सौहार्द'' पर आधारित है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के दौरान मोदी सरकार ने बड़े व्यवसायियों का दस लाख करोड़ रुपये का ऋण माफ कर दिया और यह जानना चाहा कि क्या गरीब लोगों के ऋण माफ किए गए? गांधी ने कहा, ''आज हमारे पास एक ऐसा प्रधानमंत्री है जो भवन की नींव और दीवारों को समाप्त कर छत बनाने का प्रयास कर रहा है। उनके आसपास के लोग इतने भयभीत हैं कि उन्हें नहीं बता पा रहे हैं कि आप बिना मजबूत नींव के भवन नहीं बना सकते हैं।''

एक रोडशो के दौरान कुछ स्थानों पर लोगों को संबोधित करते हुए गांधी ने भाजपा पर आरोप लगाया कि वह लोगों पर एक संस्कृति और एक भाषा थोप रही है और तमिलनाडु को 'दूसरे दर्जे का स्थान' बना रही है। अंग्रेजी में दिए गए भाषण में उन्होंने कहा, ''मैं तमिल भावना और संस्कृति को समझता हूं, स्वीकार करता हूं और उसका सम्मान करता हूं। मैं प्रधानमंत्री और भाजपा को तमिल लोगों का अपमान नहीं करने दूंगा।'' उनके भाषण का तमिल में अनुवाद किया गया।

उन्होंने कहा कि भारत विविध संस्कृतियों, धर्मों और भाषाओं का देश है। गांधी ने कहा, ''...यह देश का संबल है। यह हमारा कर्तव्य है कि इस देश में हर भाषा, संस्कृति और धर्म की रक्षा करें।'' मोदी के मासिक रेडियो कार्यक्रम पर परोक्ष रूप से हमला करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि तमिलनाडु का उनका दौरा लोगों को अपने 'मन की बात' कहने के लिए नहीं है या उन्हें सलाह देने या उन्हें क्या करना चाहिए, इस बारे में बताने के लिए नहीं है बल्कि उनकी बात सुनने के लिए है, उनकी समस्याएं समझने और उनका समाधान करने के लिए है।

उन्होंने कहा कि तमिलनाडु के इतिहास और भाषा से शेष भारत काफी कुछ सीख सकता है। पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया और परंपरागत संगीत की प्रस्तुति दी। कई लोगों ने उन्हें शॉल भेंट किए जबकि कुछ लोगों ने उन पर पुष्प वर्षा की। एक बुजुर्ग महिला ने आशीर्वाद के रूप में उनके ललाट पर 'विभूति' लगाई और कई लोगों ने उनके साथ 'सेल्फी' ली। उन्होंने दिवंगत मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे के. कामराज की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Punjab Kesari Hindi
Top