इलेक्ट्रिक वाहनों की ओर रुख कर रहा है देश, प्रमुख शहरों में बढ़े 2.5 गुना EV चार्जिंग स्टेशन

Drive Spark via Dailyhunt

जैसे- जैसे भारत धीरे- धीरे इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाता जा रहा है, देश में EV चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर भी बढ़ता जा रहा है। विद्युत मंत्रालय ने खुलासा किया है, कि पिछले चार महीनों में नौ प्रमुख शहरों में सार्वजनिक EV चार्जिंग स्टेशनों की संख्या में 2.5 गुना वृद्धि हुई है।

ये सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशन दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, सूरत, पुणे, अहमदाबाद, बेंगलुरु और हैदराबाद सहित प्रमुख मेट्रो शहरों में स्थित हैं।

भारत में मौजूदा समय में लगभग 1,640 सार्वजनिक इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन हैं, जिनमें से 940 EV चार्जिंग स्टेशन इन शहरों में फैले हुए हैं।

विद्युत मंत्रालय के अनुसार, भारत ने इन नौ शहरों में अक्टूबर 2021 और जनवरी 2022 के बीच 678 सार्वजनिक EV चार्जिंग स्टेशन जोड़े गए हैं।

विद्युत मंत्रालय ने इस साल 14 जनवरी को EV चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए संशोधित समेकित दिशानिर्देश और स्टैंडर्ड जारी किए थे। विद्युत मंत्रालय ने कहा कि केंद्र ने देश में इलेक्ट्रिक वाहनों के निर्माण और अपनाने को बढ़ावा देने के लिए कई पहल की हैं।

विद्युत मंत्रालय द्वारा कहा गया कि सार्वजनिक EV चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर में काफी विस्तार के साथ, इलेक्ट्रिक वाहनों ने भारतीय बाजार में प्रवेश करना शुरू कर दिया है।

मंत्रालय ने यह भी कहा कि केंद्र ने निजी और सार्वजनिक एजेंसियों को शामिल करके सार्वजनिक चार्जिंग बुनियादी ढांचे को बढ़ाने के लिए 360- डिग्री प्रयास किए हैं।

इनमें से BEE, EESL, PGCIL, NTPC जैसी अन्य कंपनियां शामिल हैं। EV चार्जिंग स्टेशन लगाने के लिए कई निजी संगठन भी आगे आए हैं। आपको बता दें कि आने वाले दिनों में, केंद्र सरकार की योजना चरणबद्ध तरीके से अन्य शहरों में कवरेज का विस्तार करने की है।

Indian Oil Corporation और Bharat Petroleum जैसी तेल विपणन कंपनियों ने शहरों और राष्ट्रीय राजमार्गों पर 22,000 EV चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने की घोषणा की है।

बता दें कि Indian Oil Corporation ने 10,000 EV चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने के लिए प्रतिबद्ध किया है।

वहीं दूसरी ओर BPCL अन्य 7,000 EV चार्जर स्थापित करेगी, जबकि बाकी 5,000 Hindustan Petroleum Corporation द्वारा स्थापित किए जाएंगे।

Indian Oil Corporation ने पहले ही 439 EV चार्जिंग स्टेशन स्थापित कर लिए हैं और अगले वर्ष में 2,000 और स्थापित करने की योजना है।

BPCL ने अब तक 52 चार्जिंग स्टेशन स्थापित किए हैं, जबकि HPCL ने अब तक 382 चार्जिंग स्टेशन स्थापित किए हैं।

भारी उद्योग विभाग ने हाल ही में 25 राजमार्गों और एक्सप्रेसवे के लिए 1,576 सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशनों को मंजूरी दी है जो इन राजमार्गों के दोनों किनारों पर प्रत्येक 25 किमी की सीमा के भीतर स्थित होंगे।

बता दें कि कुछ समय पहले ही IndianOil Corporation ने कहा कि उसने देश भर में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए 1,000 चार्जिंग स्टेशन स्थापित किये हैं।

इंडियन ऑयल के निदेशक, वी. सतीश कुमार ( मार्केटिंग) ने कहा कि देश में ईवी क्रांति को सक्षम करने की दिशा में कंपनी ने 1,000 से अधिक ईवी चार्जिंग पॉइंट्स की सफल तैनाती की है।

उन्होंने बताया कि इंडियन ऑयल अगले तीन वर्षों में 10,000 ईंधन स्टेशनों पर ईवी चार्जिंग सुविधाएं प्रदान करने के लिए कमर कस रहा है।

यह इलेक्ट्रिक वाहनों के ग्राहकों को चिंता मुक्त करने के साथ- साथ ऑटोमोबाइल निर्माताओं को इलेक्ट्रिक वाहनों के उत्पादन को बढ़ाने का भी विश्वास दिलाएगा।

इंडियन ऑयल ने 2017 में सार्वजनिक उपयोग के लिए अपना पहला ईवी चार्जर नागपुर में स्थापित किया था। अब, कंपनी के चार्जिंग पॉइंट कई राज्यों और राष्ट्रीय राजमार्गों सहित 500 से अधिक कस्बों और शहरों में मौजूद हैं।

इसके अलावा, निगम अगले तीन वर्षों में देश भर में राजमार्गों को ई- हाईवे में बदलने के लिए 3,000 से अधिक चार्जिंग स्टेशनों का आधार बनाने की योजना बना रहा है।

पूरी कहानी देखें