रूस- यूक्रेन युद्ध के बीच रद्द हुआ रशियन Formula- 1 Grand Prix, खिलाड़ियों ने रेस से बनाई दूरी

Drive Spark via Dailyhunt

रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध के मद्देनजर फार्मूला वन ( Formula- 1) ने रूस में होने वाले आगामी रशियन ग्रां प्री रेस इवेंट को स्थगित कर दिया है।

फार्मूला वन की मैनेजमेंट टीम ने शुक्रवार को स्थिति की निंदा करते हुए एक बयान में बार्सिलोना में प्री- सीजन टेस्ट के अंतिम दिन कार्यक्रम को रद्द करने की घोषणा की।

Click here to get the latest updates on Ukraine - Russia conflict

एक बयान में फार्मूला वन ने पुष्टि करते हुए कहा कि इस मुद्दे को हल करने के लिए परीक्षण के दूसरे दिन की पूर्व संध्या पर रेसिंग टीमों और F 1 प्रबंधन के बीच एक आपातकालीन बैठक हुई थी।

इस बैठक में दोनों देशों के बीच चल रहे युद्ध को ध्यान में रखते हुए आगामी सभी रेसों को स्थगित करने का फैसला लिया गया। प्रमुख फार्मूला वन रेसर सेबेस्टियन वेट्टेल और मैक्स वेरस्टैपेन ने रेसिंग में शामिल नहीं होने की बात कही है।

शामिल नहीं होंगे कई रेसर मौजूदा स्थिति को देखते हुए कई रेसरों ने खेल में शामिल नहीं होने का फैसला किया है। फेरारी, विलियम्स और अल्फा रोमियो टीम के प्रतिनिधियों ने परीक्षण के दूसरे दिन बैठक के कार्यक्रम की पुष्टि की है।

हास की टीम के प्रिंसिपल गुंथर स्टेनर और रूसी ड्राइवर निकिता माजेपिन ने स्थिति को देखते हुए सभी प्रेस वार्ताओं को रद्द कर दिया है।

अमेरिकी रेसरों की परेशानी बढ़ी अमेरिकी स्वामित्व वाली F 1 टीम यूक्रेन की स्थिति से परेशानी में पड़ सकती है। अमेरिकी F 1 टीम ने रूसी प्रायोजक उरालकली और अपनी टीम से एक रूसी रेसर को हटा दिया है।

टीम ने इसकी घोषणा करते हुए कहा है कि वह रूसी प्रायोजक को अपनी पोशाक से हटा रही है और परीक्षण के अंतिम दिन युद्ध के विरोध में एक सफेद पोशाक में ट्रैक पर उतरेगी।

बताया जाता है कि उरालकली का स्वामित्व निकिता माजेपिन के पिता दिमित्री के पास है, जिनका रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ घनिष्ठ संबंध है।

हालांकि, यूक्रेन की स्थिति के लिए माजेपिनों को दोषी नहीं ठहराया जा सकता है, लेकिन रूसी नेतृत्व के साथ उनकी निकटता उनके लिए समस्या बन गई है। यह संघर्ष रूसी ड्राइवर के भविष्य को भी प्रभावित कर सकता है।

इसके अलावा, रूस पर आर्थिक प्रतिबंध लगाए जाने के कारण, अमेरिकी टीम के वित्तीय संसाधन संकट में पड़ सकते हैं। रिपोर्ट के अनुसार टीम प्रभावी रूप से अन्य प्रायोजकों की तलाश कर रही है।

बताया जाता है कि यूरोप के खेल का केंद्र होने के कारण साथी यूरोपीय देशों की रेसिंग टीम का रूस से संबंध खराब हो सकता है।

पूरी कहानी देखें