Kia Motors ने बढ़ाया अपना उत्पादन, प्लांट में शुरू किया तीसरा शिफ्ट

Drive Spark via Dailyhunt

Kia Motors ने नए लॉन्च के साथ अपना उत्पादन भी बढ़ा दिया है, इसके लिए कंपनी ने अपने एकमात्र प्लांट में तीसरी शिफ्ट शुरू कर दी है।

कंपनी की यह प्लांट अनंतपुर में स्थित है जिसकी क्षमता 3 लाख यूनिट प्रतिवर्ष है, अब कंपनी पूरी क्षमता के साथ उत्पादन कर रही है। ऐसे में अब कंपनी के मॉडल्स जैसे सेल्टोस कैरंस के वेटिंग पीरियड में कमी सकती है।

Kia Motors को भारतीय बाजार के साथ- साथ दूसरे देशों में भी अच्छी प्रतिक्रिया मिली है जिस वजह से सेल्टोस सॉनेट जैसे मॉडल्स के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है।

वहीं हाल ही में लॉन्च की गयी कैरंस को 19,000 बुकिंग मिल चुकी है और इसके कुछ मॉडल्स के लिए 9 महीने से लेकर 1 साल तक का इंतजार करना पड़ेगा, ऐसे में कंपनी को तीसरी शिफ्ट शुरू करनी पड़ी है।

जहां कंपनी के मॉडल्स को अच्छी प्रतिक्रिया मिली है वहीं ग्लोबल स्तर पर चिप की कमी भी रही है जिस वजह से वेटिंग पीरियड लंबा होता जा रहा है।

हालांकि अब तीसरे शिफ्ट शुरू होने के बाद इसमें थोड़ी राहत मिलेगी और प्रतिवर्ष 3 लाख यूनिट का उत्पादन किया जाएगा, लेकिन ध्यान देने वाली बात यह है कि इसे घरेलू बाजार के साथ- साथ एक्सपोर्ट भी किया जाएगा।

कंपनी ने अपने इस प्लांट में उत्पादन 2019 में शुरू किया था, अब तक कंपनी ने 5 लाख यूनिट का उत्पादन किया है जिसमें से 4 लाख यूनिट भारतीय बाजार बाकि एक्सपोर्ट किये गये हैं।

जिस तरह से कंपनी के वाहनों को प्रतिक्रिया मिल रही है, ऐसे में यह उत्पादन आंकड़ें भी कम पड़ सकते हैं जिस वजह से कंपनी ने दूसरी प्लांट खोलने की योजना पर काम शुरू कर दिया है।

कंपनी को नए मॉडल्स के लॉन्च के साथ नया प्लांट खोलना होगा ताकि ग्राहकों की मांग को पूरा किया जा सके। किया मोटर्स के इस प्लांट में 211 एकड़ में सिर्फ उत्पादन का काम चलता है।

बतातें चले कि किया मोटर्स के अनंतपुर, आंध्र प्रदेश स्थित प्लांट में हर 1। 20 मिनट में एक नई वाहन तैयार हो जाती है। इसके लिए प्लांट में करीब 12,000 लोग काम करते है।

किया मोटर्स के इस प्लांट में 450 से अधिक रोबोट लगाए है, जो प्रेस, बॉडी को आकार देने, पेंट करने, इंजन लगाने के लिए उपयोग में लाये जाते है। इसके साथ ही असेंबली लाइन में भी इनसे विभिन्न तरीकों से काम लिया जाता है।

अब देखना होगा कंपनी नए प्लांट को कहां पर लगाती है तथा कब तक इसकी शुरुआत करती है, नए मॉडल को लाये जाने से पहले कंपनी को यह कदम उठाना होगा।

कंपनी ने वाहनों का एक्सपोर्ट सितंबर 2019 में शुरू किया था और सेल्टोस से इसकी शुरुआत की थी. कंपनी वर्तमान में देश की पहली नंबर की यूवी एक्सपोर्टर बन चुकी है तथा 91 देशों में अपने वाहन भेज रही है।

Kia Motors ने यह आंकड़ा भारत में ऑपरेशन शुरू करने के सिर्फ 2.5 साल में ही प्राप्त कर लिया है. कंपनी ने अपनी चौथी वाहन कैरंस को भी लॉन्च कर दिया गया है और कंपनी इसकी मदद से जल्द ही नए आंकड़े प्राप्त करने वाली है।

अब कंपनी वर्तमान में कुल चार वाहनों की बिक्री करती है जिसमें सेल्टोस, सॉनेट, कार्निवल नई कैरंस शामिल है, सभी को ग्राहकों से अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। Kia Carens को भारत में लॉन्च कर दिया है, इसे 8.99 लाख रुपये की कीमत पर लाया गया है।

Carens एमपीवी को 5 वैरिएंट Premium, Prestige, Prestige Plus, Luxury और Luxury Plus में लाया गया है और इसके टॉप वैरिएंट की कीमत 16.99 लाख रुपये रखी गयी है।

किया मोटर्स के प्लांट में अब पूर्ण क्षमता के साथ उत्पादन हो रहा है लेकिन जल्द ही वेटिंग पीरियड के कम होने की आशंका कम है। वर्तमान में सेमीकंडक्टर की कमी भी इसे खूब प्रभावित कर रही है।

पूरी कहानी देखें