जुगाड़ू जीप वाले दत्तात्रय लोहार ने स्वीकार किया आनंद महिंद्रा का ऑफर, घर ले आए नई बोलेरो एसयूवी

Drive Spark via Dailyhunt

महाराष्ट्र के सांगली जिले के देवराष्ट्रे गांव में दत्तात्रय लोहार ने महिंद्रा एंड महिंद्रा के चेयरमैन अमंद महिंद्रा का ऑफर स्वीकार कर लिया है। दत्तात्रय ने कमाई के लिए जुगाड़ से एक छोटी जीप बनाई थी, जिसके बाद उनका एक वीडियो वायरल होने के बाद वे चर्चा में गए थे।

ऑफर ठुकराते हुए लोहार परिवार ने जो तर्क दिए थे वे दिलचस्प हैं। उन्होंने कहा कि बोलेरो जीप के मेंटेनेंस का खर्चा वे नहीं उठा पाएंगे। उनका कहना था कि ये गाड़ी उन्होंने दो साल की कड़ी मेहनत और अपने बचाए गए पैसों से बनाई है।

इस गाड़ी से उनकी खूब बचत हुई है और पहली बार घर में लक्ष्मी आई है।

आनंद महिंद्रा ने दत्तात्रय लोहार की सूझ बुझ और कौशल की तारीफ की, लेकिन उन्होंने सचेत भी किया कि यह वाहन किसी भी वाहन कानून में नहीं बैठती है और इसके लिए उनके वाहन को कभी भी जब्त किया जा सकता है।

मैं व्यक्तिगत रूप से उन्हें इस गाड़ी के बदले में बोलेरो गाड़ी देने का ऑफर देता हूं। यह गाड़ी महिंद्रा रिसर्च वैली में प्रदर्शनी के लिए रखी जाएगी।

कैसी है दत्तात्रय की जुगाड़ू जीप? दत्तात्रय लोहार अपना फेब्रिकेशन वर्कशॉप चलाते है।

वे ज्यादा पढ़े- लिखे नहीं हैं लेकिन अल्पशिक्षित होते हुए भी उन्होंने दोपहिए गाड़ी के इंजन, चार चक्के वाली गाड़ी के बोनट और ऑटो रिक्शा के चक्कों का इस्तेमाल करते हुए 60 हजार के खर्चे में यह जीप तैयार की है।

यह जीप किसी दोपहिया वाहन की तरह किक मारकर स्टार्ट होती है और एक लीटर पेट्रोल में 40 से 45 किलोमीटर तक दूरी तय करती है। इस जीप को देखने के बाद कई लोग इस तरह की जीप बनाने का ऑर्डर दे चुके हैं।

पूरी कहानी देखें