Nissan Magnite एसयूवी का 15 देशों में किया जा रहा है निर्यात, भारत में 78 हजार कारें हुईं बुक

Drive Spark via Dailyhunt

निसान मोटर भारत से अपनी Magnite कॉम्पैक्ट एसयूवी का 15 देशों में निर्यात कर रही है। कंपनी ने जानकारी दी है कि इस साल की शुरूआत से Magnite को 15 देशों मे निर्यात किया जा रहा है।

निसान मैग्नाइट को दिसंबर 2020 में लॉन्च किया गया था और तब से यह भारत में 78,000 यूनिट्स की ग्राहक बुकिंग हासिल कर चुकी है और 6,344 यूनिट्स को विदेशों में भेज दिया गया है।

यहां कोविड से संबधित सभी नए अपडेट पढ़ेंकार और बाइक पर लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए यहां क्लिक करें

पिछले साल दक्षिण अफ्रीका और इंडोनेशिया में मैग्नाइट की सफल शुरुआत के बाद, यह कार अब नेपाल, भूटान, बांग्लादेश, श्रीलंका, ब्रुनेई, युगांडा, केन्या, सेशेल्स, मोज़ाम्बिक, जाम्बिया, मॉरीशस, तंजानिया और मलावी के ग्राहकों के लिए भी उपलब्ध है।

मैग्नाइट निसान नेक्स्ट ट्रांसफॉर्मेशन प्लान के तहत लॉन्च होने वाला पहला वैश्विक उत्पाद था, जिसने कंपनी का ध्यान उच्च- मांग वाले उत्पादों की ओर स्थानांतरित कर दिया, जो व्यवसाय और ग्राहकों को स्थायी मूल्य प्रदान करते हैं।

लॉन्चिंग के बाद से, चेन्नई में कोविड -19 महामारी की चुनौतियों और चल रहे सेमीकंडक्टर की कमी के बावजूद, 42,000 से अधिक मैग्नेट का उत्पादन किया गया है। इस उपलब्धि ने निसान इंडिया ऑपरेशंस को कंपनी का ग्लोबल प्रेसिडेंट अवार्ड दिलाया।

अफ्रीका, मध्य पूर्व, भारत, यूरोप और ओशिनिया क्षेत्र के निसान चेयरपर्सन गिलाउम कार्टियर ने कहा कि मैग्नाइट एक असाधारण कार है और यह कंपनी की डिजाइन, इंजीनियरिंग के साथ- साथ भारतीय विनिर्माण की ताकत और विशेषज्ञता को प्रदर्शित करने वाला उत्पाद है।

उन्होंने कहा कि आने वाले समय में कई और बाजारों में ग्राहक मैग्नाइट का अनुभव करने में सक्षम होंगे। यह हमारे ग्राहकों के लिए एक मजबूत और विशिष्ट ' निसान' पहचान के साथ आकर्षक उत्पाद लाने में निसान के अभिनव दृष्टिकोण का एक बेहतरीन उदाहरण है।

निसान मैग्नाइट ने पहले ही भारत में कई हाई- प्रोफाइल ऑटोमोटिव पुरस्कार जीते हैं, जिसमें बीबीसी टॉप गियर इंडिया, कार एंड बाइक और ऑटोकार इंडिया शामिल हैं, और हाल ही में इसे ' रेस मंकी कार ऑफ ईयर 2021' नामित किया गया था।

अब निसान मोटर्स जल्द ही भारत में इलेक्ट्रिक कार को लॉन्च करने की तैयारी कर रही है। जापानी कार निर्माता वर्तमान में देश में ईवी स्पेस का अध्ययन कर रही है, और आने वाले दिनों में अपने इलेक्ट्रिक वाहनों को लॉन्च करने के बारे में निर्णय लेगी।

निसान मोटर्स हाल ही में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए तीन कंपनियों वाले समूह में शामिल हुई है जिसमें फ्रांस की रेनॉल्ट और जापान की मित्सुबिशी मोटर्स शामिल है।

तीनों कंपनियों का समूह साझा रूप से 2030 तक 30 वाहनों को लॉन्च करेगा। इन वाहनों को दुनिया भर के कई बाजारों में लॉन्च किया जाएगा जिसमें भारत भी शामिल है। निसान मोटर की भारतीय इकाई ने कहा है कि भारत इलेक्ट्रिक कारों के लिए अगला बड़ा संभावित बाजार है।

कंपनी ने अनुसार, भारत में अगले कुछ सालों में भारतीय इलेक्ट्रिक वाहन ( ईवी) बाजार तीन गुना रफ्तार से वृद्धि करेगा।

कंपनी ने कहा कि निसान, रेनॉल्ट और मित्सुबिशी का गठबंधन देश में इस सेगमेंट में प्रवेश करने की व्यवहार्यता का अध्ययन कर रहा है।

निसान के मुताबिक, कंपनी का भारतीय ईवी सेगमेंट में उतरने का फैसला तीन पहलुओं पर निर्भर होगा, जिसमें उत्पाद के प्रति उत्साह, प्रतिस्पर्धात्मकता और पारिस्थितिकी तंत्र है जिसमें बुनियादी ढांचा शामिल है।

कार निर्माता ने गुरुवार को घोषणा करते हुए कहा कि यह इलेक्ट्रिक कार नई CMF B-EV आर्किटेक्चर पर आधारित होगी, जिसे शुरूआती दौर में यूरोप के बाजारों में लॉन्च किया जाएगा।

कंपनी ने सूचना दी कि यह इलेक्ट्रिक कार, रेनॉल्ट- निसान- मित्सुबिशी गठबंधन की 2030 रणनीति का हिस्सा होगा।

निसान के अनुसार, आगामी निसान कॉम्पैक्ट इलेक्ट्रिक कार का निर्माण फ्रांस में रेनॉल्ट के इलेक्ट्रीसिटी सेंटर में किया जाएगा। इसके अलावा, यह आगामी ईवी अपने लाइनअप में ब्रांड का एंट्री- लेवल मॉडल होगा।

यह इलेक्ट्रिक कार निसान के एम्बिशन 2030 विजन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होगा जिसका उद्देश्य नए वाहनों और प्रौद्योगिकियों के साथ विद्युतीकरण को बढ़ावा देना है।

पूरी कहानी देखें