टेस्ट ड्राइव के नाम पर चोर ले भागे टाटा अल्ट्रोज, बीच रास्ते में कार ने दिया धोखा तो हो गए फरार

Drive Spark via Dailyhunt

कार शोरूम वालों के लिए अब अपनी कार को टेस्ट ड्राइव लिए देना जोखिम भरा हो गया है। हाल ही में टेस्ट ड्राइव पर दिए गए एक कार को लेकर रफूचक्कर होने का मामला सामने आया है।

यह मामला उज्जैन के टाटा कार शोरूम का है जहां से एक टाटा अल्ट्रोज को टेस्ट ड्राइव पर लेकर चोर फरार हो गए। कार और बाइक पर लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए यहां क्लिक करें हालांकि, कार में मिलने वाले एक सेफ्टी फीचर के वजह से शोरूम मालिक को कार वापस मिल गई है।

यह घटना उज्जैन के आगर रोड पर स्थित सांघी ब्रदर्स के टाटा कार शोरूम शो रूम पर घटी। यहां दो लोग गाड़ी खरीदने पहुंचे और शोरूम एग्जीक्यूटिव को टाटा की अल्ट्रोज गाड़ी का टेस्ट ड्राइव कराने के लिए कहा।

रिपोर्ट के मुताबिक, टेस्ट ड्राइव के लिए सभी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद आरोपित शोरूम एग्जीक्यूटिव विष्णु गोयल के साथ टेस्ट ड्राइव के लिए भैरवगड़ रोड पर निकल गए।

कुछ दूर निकलते ही ड्राइव कर रहे युवक ने कार में कुछ खराबी आने की बात कही और विष्णु को कार से उतरकर कार चेक करने को कहा। विष्णु जैसे ही कार से नीचे उतरा वैसे ही चोर कार लेकर फरार हो गए।

इसक बाद विष्णु के बिना देर किए इसकी सूचना चिमनगंज मंडी पुलिस और शोरूम को दी।

जांच के दौरान पुलिस को सूचना मिली की चोरी की गई टाटा अल्ट्रोज कार वीर सावरकर कॉलोनी में खड़ी है। चोर कॉलोनी में कार को छोड़कर फरार हो गए थे। इसके बाद पुलिस ने कार को अपने कब्जे में लेकर शोरूम मालिक को वापस कर दिया।

इस वारदात का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है जिसमें दोनों चोर शोरूम की रेकी करते हुए दिख रहे हैं।

इस फीचर के कारण बच गई कार मॉडर्न कारों में कई सेफ्टी फीचर्स आने लगे हैं। शोरूम के मालिक ने बताया कि चोरों के अल्ट्रोज के जिस मॉडल को चुराया था उसमें पुश बटन स्टार्ट/ स्टॉप फीचर दिया गया है।

चोरों ने रास्ते में गाड़ी बंद कर दी होगी लेकिन वह उसे दोबारा स्टार्ट नहीं कर पाए क्योंकि कार की सेंसर चाबी शोरूम एग्जीक्यूटिव विष्णु के पास थी। इस वजह से चोर उसे दोबारा स्टार्ट नहीं कर पाए और कार वहीं छोड़कर फरार हो गए।

टाटा अल्ट्रोज टाटा मोटर्स की प्रीमियम हैचबैक है। भारत में इसे 5.85 - 9.59 लाख रुपये ( एक्स- शोरूम) की कीमत पर उपलब्ध किया गया है। टाटा अल्ट्रोज टाटा मोटर्स की विश्वस्तरीय ALFA प्लेटफॉर्म पर बनाई गई है।

सेफ्टी फीचर्स की बात करें तो, इसमें एबीएस, ईबीडी, कार्नर स्टेबिलिटी कंट्रोल, फ्रंट सीटबेल्ट रिमाइंडर, स्पीड अलर्ट सिस्टम, आइसोफिक्स एंकर जैसे सेफ्टी फीचर्स दिए गए हैं।

टाटा अल्ट्रॉज को 1. 2 L पेट्रोल और 1. 5 L टर्बो डीजल इंजन के विकल्प में उपलब्ध किया गया है। अल्ट्रोज का 1.2- लीटर पेट्रोल इंजन 86 बीएचपी की पावर और 113 न्यूटन मीटर का टॉर्क जेनरेट करता है। इस इंजन के साथ 5- स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स का दिया गया है।

वहीं 1.5- लीटर टर्बो डीजल इंजन 90 बीएचपी पावर और 200 न्यूटन मीटर का पीक टॉर्क जेनरेट करता है। इस इंजन के साथ भी केवल 5- स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स दिया गया है।

टाटा अल्ट्रोज का इंटीरियर डुअल टोन कलर स्कीम के साथ काफी प्रीमियम लगता है।

कार के अंदर ऐम्बिएंट लाइटिंग, ऐंड्रॉयड ऑटो और ऐपल कारप्ले के साथ 17.78- सेमी का फ्री- स्टैंडिंग टचस्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम, हरमन सराउंड साउंड, स्टीयरिंग वील माउंटेड कंट्रोल और रियर एसी वेंट जैसे फीचर्स मिलते हैं।

बता दें कि टाटा अल्ट्रोज को ग्लोबल NCAP एजेंसी द्वारा क्रैश टेस्ट में 5 स्टार सेफ्टी रेटिंग दिया गया है। यह कार एडल्ट सेफ्टी में 17 में से 16.13 पॉइंट और चाइल्ड सेफ्टी में 49 में से 29 पॉइंट स्कोर कर चुकी है।

अल्ट्रोज के सभी वैरिएंट्स में दो एयर बैग स्टैंडर्ड तौर पर दिए जाते हैं।

पूरी कहानी देखें