हीरो मोटोकाॅर्प को लगा तगड़ा झटका, नए साल के पहले महीने बिक्री घटी

Drive Spark via Dailyhunt

कंपनी ने बीते जनवरी महीने में 3,80,476 मोटरसाइकिल और स्कूटर बेचे। जनवरी 2022 में कंपनी की घरेलू बिक्री 23 प्रतिशत ( साल- दर- साल) घटकर 3,58,660 यूनिट रह गई।

कंपनी ने बिक्री पर टिप्पणी करते हुए कहा कि देश के कई राज्यों में कोरोना महामारी की तीसरी लहर के कारण लॉकडाउन और प्रतिबंध के चलते बिक्री प्रभावित हुई। हीरो मोटोकॉर्प दोपहिया वाहनों की सबसे बड़ा निर्माता है।

कंपनी दोपहिया वाहनों की निर्माण संख्या में पिछले 20 साल से नंबर 1 पर बनी हुई है। कंपनी ने अपनी स्थापना के बाद से अबतक 100 मिलियन ( 10 करोड़) से अधिक मोटरसाइकिल और स्कूटर बेचे हैं।

हीरो मोटोकॉर्प ने मध्य अमेरिका में अपनी उपस्थिति को और मजबूत करते हुए अपनी वैश्विक विस्तार योजनाओं को भी गति दी है। पिछले महीने, कंपनी ने अपने परिचालन का विस्तार किया और अल सल्वाडोर की राजधानी सैन साल्वाडोर में एक नए फ्लैगशिप स्टोर में खुदरा बिक्री शुरू की।

एक उन्नत और संपर्क रहित ग्राहक अनुभव प्रदान करने के अपने डिजिटल प्रयासों के हिस्से के रूप में, हीरो मोटोकॉर्प ने अपनी नवीनतम मोटरसाइकिल XPulse 200 4- वाल्व की ऑनलाइन बुकिंग शुरू करने की घोषणा की है।

पहली खेप पूरी तरह बिक जाने के बाद कंपनी ने दूसरे बैच के लिए बुकिंग शुरू कर दी है।

हीरो ग्लोबल सेंटर फॉर इनोवेशन एंड टेक्नोलॉजी ( सीआईटी) आर एंड डी श्रेणी के तहत ग्रीनको प्लेटिनम रेटिंग प्राप्त करने वाली पहली अनुसंधान और विकास सुविधा बन गई। हीरो के निर्माण केंद्र को 91 अंकों के साथ प्लेटिनम प्रमाणन से सम्मानित किया गया है।

बता दें कि हीरो मोटोकॉर्प इस साल अपनी इलेक्ट्रिक स्कूटर को भारतीय बाजार में लॉन्च करने की पूरी तैयारी कर रही है। कंपनी ने पिछले साल ' Vida' ( विदा) के नाम से इलेक्ट्रिक स्कूटरों के लिए एक नए ब्रांड ट्रेडमार्क पंजीकृत करवाया है।

पंजीकृत ट्रेडमार्क नाम से कंपनी भविष्य में इलेक्ट्रिक मोटरसाइकिलों को भी पेश कर सकती है। फिलहाल, इलेक्ट्रिक स्कूटर के ब्रांड को लेकर अभी कोई अंतिम फैसला नहीं लिया गया है।

आपको बता दें कि, पिछले साल अप्रैल में ही हीरो मोटोकॉर्प ने Gogoro के साथ साझेदारी की घोषणा की थी। हीरो मोटोकॉर्प इस साल मार्च में अपनी पहली इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च करने की तैयारी कर रही है।

ऐसे में हीरो इलेक्ट्रिक स्कूटरों के लिए चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने में Gogoro महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। हीरो मोटोकॉर्प के साथ साझेदारी के तहत Gogoro ताइवान के सफल बिजनेस मॉडल को भारत में लागू करेगी।

ताइवान की Gogoro इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए बैटरी स्वैपिंग की सुविधा प्रदान करने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है। Gogoro हल्के इलेक्ट्रिक वाहनों एक लिए दुनिया के कई देशों में बैटरी स्वैपिंग सर्विस प्रदान करती है।

Gogoro अपने बैटरी स्वैपिंग स्टेशनों पर ग्राहकों के डिस्चार्ज्ड बैटरी को बदलकर उन्हें पूरी तरह चार्ज बैटरी प्रदान करती है। यह सर्विस हर दिन के शुल्क या मासिक सब्सक्रिप्शन के आधार पर दिया जाता है।

इसके अलावा, Gogoro के बैटरी स्वैपिंग स्टेशनों पर इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने की सुविधा भी मिलती है। कंपनी ने 5 साल से भी कम समय में 150 करोड़ अमेरिकी डॉलर का राजस्व उत्पन्न कर लिया है।

वर्तमान में 4.5 लाख से ज्यादा ग्राहक Gogoro के बैटरी स्वैपिंग स्टेशनों का लाभ उठा रहे हैं।

हीरो मोटोकॉर्प ने इलेक्ट्रिक वाहन और चार्जिंग की तकनीक के विकास के लिए Gogoro में 285 मिलियन डॉलर ( लगभग 1,800 करोड़ रुपये) का निवेश भी किया है। यह हीरो मोटोकॉर्प का दूसरा सबसे बड़ा निवेश है।

इससे पहले, भारतीय वाहन निर्माता ने इलेक्ट्रिक स्कूटर स्टार्टअप, एथर एनर्जी में 420 करोड़ रुपये का निवेश किया था।

पूरी कहानी देखें