निधन से 2 दिन पहले पिता का गाना गा रही थीं लता मंगेशकर, नहीं पूरा कर पाईं अपना आखिरी वादा !

Filmi Beat via Dailyhunt

लता मंगेशकर को अपने आखिरी समय में पिता दीनानाथ मंगेशकर की याद रही थी। लता मंगेशकर अपने पिता को गुरु मानती थीं।

ऐसे में पिता की याद और संगीत का साथ उनके लिए अस्पताल में भी बना रहा था। लता ने अस्पताल में ईयरफोन मंगवाया था। साथ ही अपने पिता की पुरानी रिकॉडिंग्स को मंगवाकर अस्पताल में सुना करती थीं।

लता मंगेशकर पिता की आवज सुन उनके साथ उसे गाने की भी कोशिश कर रही थीं।

अपने निधन से दो दिन पहले लता मंगेशकर ने अस्पताल में ईयरफोन घर से मंगवाया। यहां तक कि डॉक्टरों ने उन्हें मास्क मुंह पर से हटाने के लिए मना किया था।

लेकिन वह दूसरी तरफ फिल्ममेकर विवेक रंजन अग्निहोत्री ने मीडिया से बताया कि लता मंगेशकर ने पिछले साल मार्च में उनकी आगानी फिल्म कश्मीर फाइल्स के लिए एक गाना रिकॉर्ड करने के लिए हामी भरी।

कश्मीर फाइल्स के लिए किया था वादा विवेक ने कहा कि कश्मीर फाइल्स में कोई गाना नहीं है। कश्मीर पंडितों को एक श्रद्धांजलि है यह फिल्म। मैं चाहता था कि कश्मीर सिंगर का एक लोकगीत है जिसे लता दीदी गाएं। लता दीदी ने फिल्मों के लिए गाना बंद कर दिया था।

मैंने उनसे गुजारिश की थी।

पल्लवी जोशी यानी कि विवेक की पत्नी के लता मंगेशकर काफी करीब थीं। इस वजह से उन्होंने गाने के लिए हामी भर दी। कोविड खत्म होने के बाद हम इस गाने को रिकॉर्ड करना चाहते थे। हम लोग इसका इंतजार कर रहे थे। अब ऐसा कभी नहीं होगा।

यह गाना हमारे लिए एक सपना ही रह गया।

पूरी कहानी देखें