मारुति सुजुकी कारों का उत्पादन करेगी कम, इस उपकरण की हो रही है भारी कमी। कंपनी ने सूचना दी है कि वह अहमदाबाद प्लांट में 7, 14 और 21 अगस्त को उत्पादन पूरी तरह से बंद रखेगी।

Drive Spark via Dailyhunt

मारुति सुजुकी ने बताया कि वह नियमित आधार पर स्थिति की निगरानी करेगी। कंपनी ने एक नियामक फाइलिंग में कहा, सेमीकंडक्टर की कमी की स्थिति के कारण इस महीने उत्पादन आंशिक रूप से प्रभावित होगा।""

मार्च 2014 में स्थापित इस प्लांट की स्थापित उत्पादन क्षमता 7.5 लाख यूनिट प्रति वर्ष है। अक्टूबर 2020 में, 10 लाख यूनिट के रिकॉर्ड उत्पादन को प्राप्त करने के साथ यह प्लांट मारुति सुजुकी मोटर की सबसे तेज उत्पादन करने वाली प्रोडक्शन फैसिलिटी में से एक बन गई।

सेमीकंडक्टर चिप्स ऑटोमोबाइल उद्योग का एक अनिवार्य हिस्सा बन गए हैं। नए वाहन तेजी से अधिक से अधिक इलेक्ट्रॉनिक सुविधाओं से लैस होते जा रहे हैं।

चिप की कमी से अन्य कंपनियां भी हैं प्रभावितमारुति सुजुकी के अलावा, एमजी मोटर, निसान, टाटा मोटर्स और महिंद्रा सहित कई अन्य कार निर्माताओं ने उत्पादन को प्रभावित करने वाले चिप संकट के बारे में चेतावनी दी है। टाटा मोटर्स ने हाल ही में जानकारी दी थी कि उसने वैश्विक सेमीकंडक्टर की कमी से निपटने के लिए विभिन्न उपायों की योजना बनाई है।

चिप की कमी को दूर करने के लिए कंपनियां अपने उत्पादों में बदलाव करने के साथ सीधे सेमीकंडक्टर निर्माताओं से चिप खरीद तरीका अपना रही हैं। इसके अलावा कंपनियां चिप में बदलाव करके या उसके जगह अन्य चिप का इस्तेमाल करके चिप की कमी से निपट रही हैं।

मारुति की सेल्स 36 फीसदी बढ़ी। मारुति ने जुलाई 2021 में कुल 1,62,462 यूनिट की बिक्री की है।

पूरी कहानी देखें