फिर हाथ में आकर फिसला वर्ल्ड कप, केन विलियमसन ने माना- इस बार दर्द हुआ

My Khel via Dailyhunt

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन एक बार फिर आईसीसी वर्ल्ड कप के ट्रॉफी को नजदीक से देखकर ही हाथ मलते रह गए। विलियमसन अक्सर अपनी भावनाओं को छुपा जाते हैं लेकिन इस बार उनका मानना है कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिली हार ने थोड़ा दर्द तो दे ही दिया है।

विलियमसन ने कहा है कि न्यूजीलैंड लगातार तीसरी बार आईसीसी की प्रतियोगिता में पहुंचा है लेकिन जीत नहीं पाया। केन ने मैच के बाद कहा कि, आज अपने खेल पर गर्व नहीं है लेकिन हमने टूर्नामेंट में अच्छा खेला है। खिलाड़ियों ने खुद को इस वर्ल्ड कप में झोंक दिया था।

उन्होंने पूरा दिल दिखाया, अच्छा होता फाइनल जीत जाते। लेकिन फिर से ऑस्ट्रेलिया को श्रेय जाता है। काफी उम्मीदें बढ़ गई थी, अच्छा क्रिकेट खेला गया, तो हम थोड़ा दर्द महसूस कर रहे हैं। लेकिन केवल दो ही नतीजे आने थे, अफसोस है कि हम काम पूरा नहीं कर सके।

विलियमसन दर्द के बावजूद एक बार फिर से शांत और सौम्य थे। ऐसा बेहतरीन लीडर क्रिकेट दुनिया में चार चांद लगाता है।

क्रिकेट लीडरशिप में विलिमयनस और विराट कोहली के योगदान की गाथाएं इनके संन्यास के बाद और लंबी होने वाली हैं। विलिययमसन आगे कहते हैं कि, हम एक प्लेटफॉर्म को हासिल करने के लिए कोशिश कर रहे हैं।

यह अच्छा रहा कि हमने कुछ अच्छी साझेदारियों को अंजाम दिया और फिर हमको लगा कि यह अच्छा स्कोर है लेकिन इसका पीछा जबरदस्त तरीके से किया गया। वे एक बेहतरीन टीम हैं, उनका अभियान गजब का रहा और उन्होंने आकर खेल को पलट दिया।

विलियमसन अंत में कहते हैं कि ये खेल ऐसा है जहां आपको वास्तव में कभी पता नहीं चलता क्या हो रहा है। कीवियों ने पूरी कोशिश की एक अच्छा स्कोर बोर्ड पर लग जाए। मैच आधा होने तक सब अच्छा लग भी रहा था।

न्यूजीलैंड बहुत पीछे नहीं था लेकिन ऑस्ट्रेलिया को इस बेहतरीन चेज का क्रेडिट देना होगा जिन्होंने न्यूजीलैंड को एक इंच की गुंजाइश भी नहीं दी। अब कीवियों को गम भुलाकर भारत के खिलाफ कड़े अभियान की तैयारी करनी है जहां वे 3 टी 20 इंटरनेशनल और 2 टेस्ट मैच खेलेंगे।

यह दौरा परसों यानी 17 नवंबर से ही शुरू हो रहा है।

पूरी कहानी देखें