सेमीकंडक्टर की कमी बनी चुनौती, मारुति ने लगाया बिक्री में 6% की कमी का अनुमान

Drive Spark via Dailyhunt

सुजुकी मोटर कॉर्पोरेशन का कहना है कि भारत में उसकी ऑटोमोबाइल बिक्री में गिरावट दर्ज की जा सकती है।

कंपनी ने बताया कि वह देश में साल- दर- साल छह प्रतिशत की गिरावट का अनुमान लगा रही है और उसने चालू वित्त वर्ष में चल रहे सेमीकंडक्टर की कमी के कारण अपने समग्र वैश्विक बिक्री पूर्वानुमान में 2.25 लाख यूनिट की कटौती की है।

सुजुकी ने चालू वित्त वर्ष के लिए अपनी कुल वैश्विक बिक्री 24.86 लाख यूनिट रहने का अनुमान लगाया है, जो पिछले पूर्वानुमान से 2.25 लाख यूनिट कम है। पिछले वित्तीय वर्ष में सुजुकी ने 25.71 लाख यूनिट्स की बिक्री की थी।

सुजुकी मोटर कॉर्पोरेशन की सहायक कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने वित्तीय वर्ष 2020 - 21 में 14,57,861 यूनिट वाहनों की बिक्री की थी जबकि चालू वित्तीय वर्ष में 30 सितंबर तक कंपनी ने 7,33,155 यूनिट की बिक्री की है।

सुजुकी ने यह भी बताया कि उसने चालू वित्त वर्ष के लिए अपनी वार्षिक उत्पादन योजना को संशोधित कर लगभग 25.79 लाख यूनिट कर दिया है। यह शुरूआती योजना से 2.99 लाख यूनिट कम है। पिछले वित्तीय वर्ष में लगभग 26.51 लाख यूनिट वाहनों का निर्माण किया गया था।

मारुति सुजुकी का कहना है कि कंपनी उत्पादन पर ऑटो कंपोनेंट्स की कमी के प्रभाव को कम करने और अपने उत्पादों को अधिक से अधिक ग्राहकों तक पहुंचाने की कोशिश कर रही है।

हालांकि, इसमें कहा गया है कि उत्पादन में अपेक्षित कमी के बावजूद, परिचालन लाभ ( operating profit) को 170 अरब येन के पिछले पूर्वानुमान से अपरिवर्तित रखा गया है, जो पिछले वित्त वर्ष से 12.6 प्रतिशत कम है।

वाहन निर्माता ने भारत में अपनी सीएनजी कारों को बेचने की नई योजना का भी खुलासा किया है। कंपनी ने भारत में पेट्रोल- डीजल की बढ़ती कीमतों के बीच अपने उत्पाद रेंज में नए सीएनजी मॉडलों को पेश करने की योजना बनाई है।

कंपनी का मानना है कि लंबी अवधि में सीएनजी कारों की मांग अधिक मजबूत हो सकती है।

इसको देखते हुए कंपनी ने अपने बिक्री नेटवर्क के विस्तार के साथ चालू वित्त वर्ष में सीएनजी कारों की बिक्री को लगभग दोगुना करने की योजना बनाई है। कंपनी की चालू वित्त वर्ष में करीब तीन लाख सीएनजी कार यूनिट बेचने की योजना है।

कार निर्माता ने पिछले वित्त वर्ष में लगभग 1.62 लाख सीएनजी कारें बेची थीं। कंपनी को उम्मीद है कि अगले कुछ सालों में देश भर में सीएनजी डिस्पेंसिंग आउटलेट का तेजी से विस्तार होगा जिससे सीएनजी कारों की मांग में भारी वृद्धि आएगी।

वर्तमान में मारुति सुजुकी इंडिया अपने 15 मॉडलों में 7 मॉडलों को सीएनजी में पेश करती है। सीएनजी संस्करण में ऑल्टो, एस- प्रेसो, वैगनआर, ईको, टूरएस, अर्टिगा और सुपर कैरी जिअसे मॉडल्स बेचे जा रहे हैं।

कंपनी हाल ही में पेश की गई नई Celerio को भी CNG वर्जन में लॉन्च कर सकती है।

मारुति सुजुकी वर्तमान में इस सेगमेंट में 85 प्रतिशत से अधिक बाजार हिस्सेदारी के साथ देश में सीएनजी कार सेगमेंट में सबसे आगे है। पिछले वित्त वर्ष में देश में बेची गई सीएनजी वाहनों की 1.9 लाख यूनिट में से 1.6 लाख से अधिक यूनिट मारुति सुजुकी की थीं।

कंपनी को उम्मीद है कि वर्ष 2025 तक देश में 10,000 सीएनजी रिफिलिंग स्टेशन लगा लिए जाएंगे।

पूरी कहानी देखें