MG Motor अब दक्षिण एशियाई देशों में भी करेगी प्रवेश, हेक्टर को नेपाल भेजना हुआ शुरू

Drive Spark via Dailyhunt

MG Motor अब दक्षिण एशियाई देशों में भी प्रवेश करने जा रही है और इसकी शुरुआत कंपनी ने अपनी लोकप्रिय एसयूवी हेक्टर को नेपाल भेजने के साथ करने वाली है।

इस एसयूवी का निर्माण MG Motor के हलोल स्थित प्लांट में करने वाली है, कंपनी की इस एसयूवी को भारतीय बाजार में अच्छी प्रतिक्रिया मिली है, इस वजह से अब इसे दूसरे देशों में भी भेजा जा रहा है।

MG Motor ने भारतीय बाजार में अपने वाहनों का उत्पादन 6 मई को शुरू किया था और जून के महीने हेक्टर एसयूवी के रूप में अपने पहले वाहन को लॉन्च किया था।

कंपनी अब तक भारतीय बाजार में चार वाहन ला चुकी है और इन्हें शानदार प्रतिक्रिया मिली है जिस वजह से यह अब तक 72,500 परिवारों का हिस्सा बन चुकी है। पिछला साल कंपनी के लिए शानदार रहा है।

हाल ही में कंपनी ने एस्टर एसयूवी को उतारा है जिसे अच्छी बुकिंग मिल रही है। इसके साथ ही कंपनी इलेक्ट्रिक वाहन सेगमेंट में भी अपनी पकड़ बना चुकी है, कंपनी की जेडएस ईवी बिक्री के लिहाज से दूसरे नंबर पर रहती है।

इस सेगमेंट में अपनी पकड़ को और भी मजबूत करने के लिए कंपनी जल्द ही एक 15 लाख रुपये तक की इलेक्ट्रिक कार लाने जा रही है।

MG Motor India ने इस बात की पुष्टि की है कि कंपनी इस नई इलेक्ट्रिक कार को ज्यादा किफायती कीमत पर उतारेगी। यह भी माना जा रहा है कि MG अपने वैश्विक पोर्टफोलियो में मौजूद मौजूदा मॉडलों में से एक भारत ला सकती है।

जानकारी के लिए बता दें कि MG ZS EV के अलावा MG Motor के पास वैश्विक बाजारों में दो और प्लग- इन कारें हैं।

एमजी मोटर भारतीय बाजार में खासकर एसयूवी सेगमेंट पर फोकस कर रही है, इसके इलेक्ट्रिक वाहन भी एसयूवी सेगमेंट में लाये गये हैं।

कंपनी ने भारतीय बाजार में प्रवेश करने के दौरान ही कहा था कि यह बाजार एसयूवी एमपीवी के लिए अच्छा है और इसलिए अभी तक कंपनी इस सेगमेंट के बाहर नहीं गयी है, इसके साथ ही कंपनी ने अभी तक कोई कम बजट वाली कार भी नहीं उतारी है।

एमजी मोटर की कारों की बिक्री में नवंबर 2021 में गिरावट दर्ज की गयी है, कंपनी की बिक्री में 40 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी है। एमजी की बिक्री में हेक्टर पहले नंबर पर रही है, उसके बाद एस्टर रही है, इसके बाद जेडएस ईवी ग्लोस्टर रही है।

कंपनी की बिक्री में चिप की कमी की वजह से गिरावट दर्ज की गयी है, इसकी जानकारी कंपनी ने हाल ही में दी थी।

एमजी हेक्टर कंपनी की सबसे अधिक बिकने वाली मॉडल रही है, कंपनी की इस एसयूवी की नवंबर महीने में 1210 यूनिट की बिक्री की गयी है, जो कि पिछले साल 3426 यूनिट रही थी, इसके मुकाबले 65 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी है।

वहीं अक्टूबर महीने के 2478 यूनिट के मुकाबले 51 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी है। कंपनी ने बताया था कि प्रोडक्शन चिप की कमी की वजह से भारी प्रभावित हुआ है।

इसके बाद कंपनी की नई एसयूवी एस्टर रही है और नवंबर महीने में इसकी 1018 यूनिट बेचीं गयी है।

यह बिक्री का इस एसयूवी का पहला महीना रहा है और कंपनी ने इस साल के लिए सिर्फ 5000 यूनिट उपलब्ध कराया है और ऐसे में अगले महीने भी एस्टर के बिक्री के आंकड़ें करीब 2000 - 3000 रहने वाले हैं।

यह एसयूवी कुछ ही समय में 2021 के लिए पूरी तरह से बिक गयी थी।

एमजी मोटर के लिए लिए भारतीय बाजार अच्छा रहा है और कंपनी ऐसे ही उम्मीद दक्षिण एशियाई देशों बाजार से कर रही है, हालांकि कंपनी वाहनों का उत्पादन भारत में ही करने वाली है लेकिन इन्हें कई अन्य देशों में बेचा जाएगा।

पिछले कुछ वर्षों में कई वाहन कंपनियों ने वाहन उत्पादन के लिए भारत को ही चुना है।

पूरी कहानी देखें