Tata Motors का जमशेदपुर प्लांट 13 दिसंबर से तीन दिन के लिए रहेगा बंद, जानें क्या है वजह

Drive Spark via Dailyhunt

Tata Motors अपने जमशेदपुर प्लांट को फिर से तीन दिन के लिए बंद रखने जा रही है, कंपनी 13 दिसंबर से 15 दिसंबर तक प्लांट बंद रखने वाली है।

सूत्रों का कहना है कि भारी कमर्शियल वाहनों के मांग में कमी की वजह से ऐसा किया जा रहा है, हालांकि प्लांट में लगे सूचना पर कोई भी कारण नहीं बताया गया है। इसके पहले 29 नवंबर को भी प्लांट बंद किया गया था।

Tata Motors के जमशेदपुर प्लांट के मुख्य अधिकारी विशाल बादशाह द्वारा कर्मचारियों को बताया गया है कि प्लांट में उत्पादन को तीन दिन तक बंद रखा जाएगा, कंपनी इस ब्लैक क्लोजर में रूटीन मेंटेनेंस करेगी, जिस वजह से कुछ कर्मचारियों को काम पर बुलाया जा सकता है।

इस बंद से प्लांट में भारी कमर्शियल वाहन ट्रक, ट्रेलर्स, टिपर्स जैसे वाहनों की बिक्री बंद हो जायेगी।

यूनियन के सूत्रों के अनुसार भारी कमर्शियल वाहनों की मांग आमतौर पर प्रतिवर्ष इस समय कम रहती है जिस वजह से बिक्री को बंद किया जा रहा है। कंपनी दिसंबर महीने में करीब 5500 यूनिट भारी वाहनों का उत्पादन करने वाली है।

इस बंद की खबर से टाटा मोटर्स के लिए उपकरण तैयार करने वाली करीब 700 कंपनियां भी प्रभावित होने वाली है।

टाटा मोटर्स ने 1 जनवरी 2022 से अपने सभी कमर्शियल वाहनों की कीमत में वृद्धि करने जा रही । कंहैपनी ने 1 जनवरी से कीमत में 2। 5 प्रतिशत की बढ़ोतरी करने की घोषणा की है।

वाहन निर्माण में लगने वाले स्टील, एल्युमीनियम और अन्य कीमती धातुओं जैसी वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि के कारण कंपनी ने कीमत में बढ़ोतरी का फैसला लिया है।

Tata Motors जनवरी 2022 से महंगी होने वाली है, हाल ही में कंपनी ने इसकी घोषणा की है। Tata Motors ने बताया कि इनपुट खर्च लगातार बढ़ रहा है और ऐसे में कंपनी को कीमतों में वृद्धि कर रही है ताकि इस भार को कम किया जा सके।

देश में रा मटेरियल की कीमतों में लगातार वृद्धि हो रही टाटाहै जिस वजह से कंपनियों को भी कीमत बढ़ाने पड़ रहे हैं। बतातें चले कि देश के अधिकतर वाहनों कंपनियों ने अपने कारों की कीमत में दो से तीन बार वृद्धि की है।

नवंबर में टाटा मोटर्स की कुल वाहन बिक्री 58,073 यूनिट रही। इनमें कॉमर्शियल वाहन भी शामिल हैं। पिछले साल नवंबर की तुलना में इस साल नवंबर में बिक्री 20 फीसदी से भी अधिक बढ़ी लेकिन अक्टूबर 2021 में बेची गई 67,829 यूनिट्स की तुलना में बिक्री कम हुई है।

कंपनी बीते महीने कमर्शियल वाहन सेगमेंट में पहले नंबर पर रही है और सेगमेंट लीडर बनकर उभरी है।

टाटा मोटर्स ने शुक्रवार को अहमदाबाद जनमार्ग लिमिटेड ( एजेएल) को 60 इलेक्ट्रिक बसों की डिलीवरी की है। गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने कल साबरमती रिवर फ्रंट इवेंट सेंटर में आयोजित एक समारोह के दौरान इलेक्ट्रिक बसों को झंडी दिखाकर रवाना किया।

टाटा अल्ट्रा अर्बन 9/9 एसी बसें अहमदाबाद के बस रैपिड ट्रांजिट सिस्टम ( बीआरटीएस) कॉरिडोर पर चलेंगी।

कंपनी का कहना है कि वह इन बसों के लिए चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर को भी विकसित करने में मदद करेगी। टाटा मोटर्स को दो साल पहले एजेएल को 300 इलेक्ट्रिक बसें देने का प्रस्ताव मिला था। टाटा अल्ट्रा अर्बन 9/9 बसें पूरी तरह बैटरी की ऊर्जा पर आधारित हैं।

ये बसें 345 बीएचपी की अधिकतम पॉवर और 3000 न्यूटन मीटर का अधिकतम टॉर्क उत्पन्न कर सकती हैं।

कमर्शियल वाहन सेगमेंट में टाटा मोटर्स का प्रदर्शन बीते महीने शानदार रहा है लेकिन यह अपने उच्चतम स्तर पर नहीं जा पा रहा है। जिस वजह से कंपनी को प्लांट बंद करना पड़ रहा है, हालांकि इससे कंपनी का उत्पादन कितना प्रभावित होगा यह देखना होगा।

पूरी कहानी देखें