Hyundai Tucson ने Latin NCAP क्रैश टेस्ट में निकली फिसड्डी, हासिल किए 0 सेफ्टी स्टार

Drive Spark via Dailyhunt

इससे पहले पिछले महीने Hyundai Tucson का Euro NCAP में क्रैश टेस्ट किया गया था और इसने प्रभावशाली 5- स्टार सुरक्षा रेटिंग हासिल की थी।

हालांकि, एक महीने बाद, जब इस SUV का Latin NCAP में क्रैश टेस्ट किया गया, तो इसने केवल 0- स्टार सुरक्षा रेटिंग हासिल की। लेकिन सोचने वाली बात यह है कि दोनों क्रैश टेस्ट में इतना अंतर कैसे सकता है।

ऐसा इसलिए है क्योंकि Euro NCAP में पहले परीक्षण किया गया एक न्यू- जेनरेशन Hyundai Tucson मॉडल था, जबकि हाल ही में Latin NCAP में परीक्षण किया गया एसयूवी का पुराना मॉडल है। पुराना मॉडल भारतीय बाजार में बेचा जा रहा है।

इसके साथ ही यह कई अंतरराष्ट्रीय बाजारों में बिक्री पर है और इसलिए यह सुरक्षा परीक्षण अभी भी महत्वपूर्ण है। Latin NCAP ने इस बात का खुलासा किया कि उसने फरवरी 2021 में क्रैश परीक्षण की गई यूनिट को खरीदा था।

ऐसा इसलिए क्योंकि तीन प्रासंगिक देशों में Hyundai के आधिकारिक प्रतिनिधियों ने पुष्टि की कि Latin America के लिए नई Hyundai Tucson को कम से कम दो साल तक लॉन्च नहीं किया जाएगा। हालांकि पिछले कुछ महीनों में चीजें तेजी से बदली हैं।

ऐसा इसलिए क्योंकि नई- जनरेशन Hyundai Tucson के आने वाले महीनों में कई अंतरराष्ट्रीय बाजारों में अपनी शुरुआत करने की उम्मीद है। टेस्ट की बात करें तो फ्रंट इम्पैक्ट टेस्ट में चालक और सामने वाले यात्री के सिर और गर्दन को दी गई सुरक्षा अच्छी थी।

ध्यान देने वाली बात यह है कि Hyundai Tucson की परीक्षण की गई यूनिट स्टैंडर्ड फिटमेंट के रूप में सामने वाले केबिन के लिए डुअल फ्रंट एयरबैग और बेल्ट प्रेटेंसर से लैस थी।

चालक और सामने वाले यात्री दोनों की छाती ने पर्याप्त सुरक्षा दिखाई। हालांकि ड्राइवर के घुटनों को मामूली सुरक्षा प्रदान की गई थी, क्योंकि वे फेसिया के पीछे खतरनाक संरचनाओं के संपर्क में आते हैं। दूसरी ओर सामने वाले यात्री के घुटनों ने अच्छी सुरक्षा दिखाई।

बॉडीशेल को स्थिर के रूप में दर्जा दिया गया था और यह आगे के भार को झेलने में सक्षम है।

https://www.youtube.com/embed/0cVq4IS4cM4?rel=0

साइड इफेक्ट टेस्ट की बात करें तो ऑन बोर्डर्स के लिए सिर, पेट और पेल्विस की सुरक्षा अच्छी थी, जबकि छाती की सुरक्षा पर्याप्त थी। पुराने Hyundai Tucson ने फ्रंटल और साइड इम्पैक्ट के साथ- साथ व्हिपलैश सुरक्षा में वयस्क सुरक्षा में अच्छा स्कोर किया।

चूंकि SUV स्टैंडर्ड रूप में साइड एयरबैग की पेशकश नहीं करती थी, इसलिए यह उच्च सुरक्षा बिंदु हासिल करने में सक्षम नहीं थी। सबसे बड़ी चिंता Hyundai Tucson में बच्चों की सुरक्षा को लेकर सामने आई थी, जिसे खराब दर्जा दिया गया था।

बता दें कि पुरानी- जनरेशन Hyundai Tucson मौजूदा समय में भारत में 22.69 लाख रुपये से 27.47 लाख रुपये ( एक्स- शोरूम) के बीच बेचा जा रहा है।

इस मॉडल को जल्द ही एक नई- जेनरेशन Tucson से रिप्लेस किया जाएगा, जो पहले से ही उत्तरी अमेरिकी बाजारों में बेचा जा रहा है।

पूरी कहानी देखें