25 साल के कीपर ने धोनी के शहर में जड़े 8 छक्के, 19 गेंदों पर ठोक डाले 92 रन, जड़ा तूफानी शतक

My Khel via Dailyhunt

नई दिल्लीः हाल के दिनों में विकेटकीपर बल्लेबाजों की अहमियत बहुत बढ़ गई है जहां पर विस्फोटक बैटिंग करने वाले कीपरों की डिमांड बहुत बढ़ गई है।

एडम गिलक्रिस्ट ने जब ताबड़तोड़ अंदाज दिखाए थे तब किसी ने सोचा नहीं था एक दिन ये चीज बहुत आम हो जाएगी। हालांकि आज भी टेस्ट स्तर पर गिलक्रिस्ट जैसा महान कीपर बल्लेबाज ढूंढना मुश्किल है जो कुछ ही घंटे की बैटिंग में पूरे मैच का नक्शा बदल दे।

भारत के पास ऋषभ पंत ने जरूर कुछ पारियों में वह झलक दिखाई है। दूसरे एशेज टेस्ट से पहले ऑस्ट्रेलिया को झटका, चोटिल होकर बाहर हुआ अहम गेंदबाज

इससे पहले महेंद्र सिंह धोनी ने वनडे में चमत्कारिक पारियों का अंबार लगाया हुआ है।

लेकिन इस आर्टिकल में हम किसी भी ऐसे दिग्गज सितारें की बात नहीं कर रहे हैं बल्कि यहां पर एक नए खिलाड़ी की बात हो रही है जिसका नाम क्रिकेट की दुनिया में चमकना अभी बाकी है। राजस्थान के विकेटकीपर बल्लेबाज मनेंद्र सिंह ने विजय हजारे ट्रॉफी में तूफानी पारी खेली।

यह मैच धोनी के घरेलू शहर रांची में ही खेला गया। यहां पर मनेंद्र सिंह ने 166 रनों की जबरदस्त पारी खेली।

इस मैच में राजस्थान ने पहले बैटिंग की जहां पर अभिजीत तोमर और मनेंद्र सिंह ने पारी की शुरुआत की। दोनों ने पहले विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी की। इसके बाद मनेंद्र सिंह और महिपाल लोरमोर ने दूसरे विकेट के लिए दोहरा शतकीय साझेदारी की।

दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 208 रनों की साझेदारी की और फिर महिपाल आउट हो गए जिन्होंने एक शतक लगाया था। इस साझेदारी के दम पर टीम का स्कोर भी 300 के पार हो गया। मनेंद्र सिंह ने 132 गेंदों पर 166 रनों की पारी खेली।

उनकी पारी में 11 चौके और 8 छक्के लगाए गए। उन्होंने 19 गेंदों पर 92 रन बना डाले।

महिपाल ने 110 गेंदों पर 101 रन बनाए जिसके दम पर राजस्थान की टीम ने 50 ओवरों में 3 विकेट के नुकसान पर 335 रन बनाए। यह मनेंद्र सिंह के बल्ले से निकला चौथा लिस्ट शतक था जो उन्होंने अपने 24वें मैच की 24वीं पारी में बनाया है।

इसी दौरान महिपाल के बल्ले से भी पहला शतक निकला। इससे पहले उन्होंने लिस्ट क्रिकेट में 14 अर्धशतक लगाए थे। महिपाल लारमोर ने लिस्ट क्रिकेट में 37वीं पारी में अपना पहला शतक लगाया।

पूरी कहानी देखें