Bullet पर फिल्मी स्टाइल में ढूंढ रहा था ' लुगाई', पुलिस ने काटा 9,000 रुपये का चालान

Drive Spark via Dailyhunt

इन दिनों सोशल मीडिया पर फेम पाने के लिए लोग अजब- गजब तरीके अपनाते हैं।

जहां कुछ लोग फेमस होने के लिए हंसी- मजाक का सहारा लेते हैं, वहीं कुछ लोग कुछ नियमों को तोड़ने तक जाते हैं। ऐसा एक मामला हाल ही में उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में सामने आया है, जहां एक युवक ने सोशल मीडिया पर फेमस होने के लिए एक वीडियो बनाया है।

मंगलवार को फिल्मी अंदाज में गाना गाते हुए बिना हेलमेट के Royal Enfield Bullet चलाने वाले कानपुर के एक युवक का वीडियो वायरल हो गया है। वायरल हो रहे इस वीडियो को देख कानपुर ट्रैफिक पुलिस ने उनका 9 हजार रुपये का चालान काट दिया।

कानपुर ट्रैफिक पुलिस ने वाहन अधिनियम की 4 धाराओं के तहत इस युवक को नोटिस भी भेजा है। जानकारी के अनुसार यह युवक कानपुर के मसवानपुर इलाके का रहने वाला है और इसका नाम खालिद अहमद बताया जा रहा है।

यह युवक बिना हेलमेट के Royal Enfield Bullet पर हाउसिंग डेवलपमेंट की सड़कों पर गाना गा रहा था, स्टंट कर रहा था और राइड कर रहा था। इस वीडियो के सामने आते ही पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उसका ऑनलाइन चालान काट दिया।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार युवक को तीन दिन में जुर्माना भरने का समय दिया गया है। पुलिस ने जानकारी दी है कि खालिद अहमद को वाहन अधिनियम की 4 धाराओं में नोटिस भेजा गया है। इस मामले में खालिद अहमद ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है।

खालिद अहमद का कहना है कि पुलिस ने इस मामले में उसका 9 हजार रुपये का नहीं, बल्कि 14 हजार रुपये का चालान काटा है। उसका कहना है कि उसने इस चालान की रकम को पहले ही जमा कर दिया है और उसने अपनी गलती को भी माना है।

खालिद अहमद का कहना है कि उसे ऐसे किसी नियम के बारे में पता नहीं था, इसलिए उसने इस को वीडियो बनाया था। वहीं दूसरी ओर सोशल मीडिया पर इस वीडियो के वायरल होने पर इस युवक को लेकर लोगों की अलग- अलग प्रतिक्रियाएं भी रही हैं।

सोशल मीडिया पर वीडियो के वायरल होने पर लोगों ने अलग- अलग प्रतिक्रियाएं देते हुए ट्वीट कर सवाल किया है। ट्विटर पर एक शख्स ने कहा कि " इस तरह का काम करने वाले युवक के साथ फिल्म वालों पर भी जुर्माना लगाया जाएगा या नहीं?"

वहीं एक यूजर ने लिखा कि इसी बहाने यह लड़का फेमस हो गया है। बता दें कि इस तरह के मामले सिर्फ उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में ही नहीं, बल्कि देश के कई राज्यों में सामने चुके हैं और संबंधित राज्य की ट्रैफिक पुलिस द्वारा उन पर कार्रवाई भी की गई है।

पूरी कहानी देखें