नेपाल की राजनीति के नए किंग मेकर बने ' पत्रकार' रबि लामिछाने, 6 महीने में बदल दी देश की पॉलिटिक्स
नेपाल में 20 नवम्बर को हुए आम चुनाव के बाद अभी मतगणना का काम चल रहा है। अब तक प्राप्त रुझानों और नतीजों में किसी भी दल या गठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिलने की उम्मीद दिखाई नहीं दे रही है। इससे एक बार फ‍िर से नेपाल में गठबंधन सरकार बनाने की सुगबुगाहट तेज हो गई है।
अब लगभग यह तय हो चुका है कि नेपाल में राजनीतिक अस्थिरता का संकट बरकरार रहने वाला है। वहीं, एक्जिट पोल के सारे कयासों को झूठा साबित करते हुए रबि लामिछाने ने नेपाल की राजनीति में हलचल पैदा कर दी है।
सऊदी प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने इमरान खान को घड़ी गिफ्ट की, बीवी ने चोरी से 20 लाख डॉलर में बेच डाला!
गगन थापा ने खुद को पीएम पद का बताया दावेदार जैसे रुझान देखने को मिल रहे हैं, यह लगभग तय है कि नेपाली कांग्रेस के भीतर अंर्तकलह की स्थिति उत्‍पन्‍न हो सकती है। नेपाली कांग्रेस में कई धड़े ऐसे हैं जो शेर बहादुर देऊबा का नेतृत्व स्वीकार करने से इनकार कर सकते हैं।
देऊबा के विरोधी नेपाली कांग्रेस के महासचिव गगन थापा ने एक बार फिर से आम चुनाव में जीत हासिल कर ली है। वह पहले भी चुनाव प्रचार के दौरान खुद को पीएम पद के उम्मीदवार के रूप में पेश कर चुके हैं। अपने भाषणों में पीएम पद की चाह के बारे में वह कई बार ऐलान कर चुके हैं।
रबि लामिछाने ने सबको चौंकाया हालांकि गगन थापा को पीएम बनने के लिए संसदीय दल में बहुमत साबित करना जरूरी होगा। गगन थापा के अलावा रामचंद्र पौडेल और प्रकाश मान सिंह जैसे कई अन्य नेता हैं जो पीएम पद की चाह खुल कर रखते हैं।
वहीं, इधर नई- नई बनी पार्टी राष्‍ट्रीय स्‍वतंत्र पार्टी ने अपने प्रदर्शन से देश के प्रमुख राजनीतिक दलों की नींद उड़ा दी है। अगर नेपाल में किसी एक दल को बहुमत हासिल नहीं मिलता है तो इस पार्टी का देश के राजनीति में वर्चस्‍व बढ़ना तय है।
इसलिए प्रमुख दलों की नजर नेपाल के पूर्व पत्रकार रबि लामिछाने की पार्टी राष्‍ट्रीय स्‍वतंत्र पार्टी पर टिकी है।
पुष्प दहल प्रचंड का खेल खत्म राष्‍ट्रीय स्‍वतंत्र पार्टी नेपाली कांग्रेस और सीपीएल जैसी बड़ी पार्टियों के बाद यह तीसरे स्‍थान पर चल रही है और पुष्प कमल दहल प्रचंड की पार्टी से भी अधिक आगे चल रही है।
इतना ही नहीं समानुपातिक वोटों की गिनती में भी राष्ट्रीय स्वतंत्र पार्टी को कांग्रेस और एमाले के बाद तीसरा सबसे अधिक वोट मिल रहा है। राष्‍ट्रीय स्‍वतंत्र पार्टी के संस्‍थापक रबी लामिछाने इन दिनों नेपाल की राजनीति में छाए हुए हैं।
सक्रिय राजनीति में आने से पूर्व लामिछाने एक टीवी पत्रकार थे। राजनीति में आने से पहले उन्होंने खोजी पत्रकारिता के दम पर पूरे नेपाल में अपना एक अलग फैनबेस बना लिया था। लामिछाने ने 22 जून, 2022 को नौकरी से इस्तीफा दे दिया था।
प्रचंड का डर सही साबित हुआ इसके बाद उन्‍होंने अपनी सियासी पारी का ऐलान किया। उस वक्‍त नेपाल के किसी प्रमुख दल ने यह नहीं सोचा होगा कि आम चुनाव में लामिछाने की पार्टी इतना बेहतरीन प्रदर्शन करेगी।
हालांकि वह इतने चर्चित थे कि उनसे डरकर पूर्व पीएम पुष्प दहल प्रचंड तक ने अपनी पसंदीदा सीट छोड़ दी। लामिछाने ने वर्ष 2013 में सबसे लंबा टाक शो होस्ट करने के लिए गिनीज वर्ल्ड रेकार्ड बनाया था। इस दौरान उन्होंने 62 घंटे के एक शो को होस्ट किया था।
By Sanjay Kumar Jha Oneindia source: oneindia.com Dailyhunt