Anand L Rai on Raksha Bandhan failure: आनंद एल राय ने मानी 5 गलतियां जिनसे फ्लॉप हुई रक्षाबंधन
Anand L Rai on Raksha Bandhan failure: अक्षय कुमार [ Akshay Kumar] के लिए ये साल काफी बुरा रहा। उनकी चारों फिल्में बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह फ्लॉप हुईं। लेकिन इनमें सबसे बड़ी हैरानी जिस फिल्म के लिए हुई वो थी आनंद एल राय [ Anand L Rai] की फिल्म रक्षा बंधन।
किसी को उम्मीद नहीं थी कि ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर इतनी बुरी तरह पिट जाएगी। अब रिलीज़ के तीन महीनों बाद आखिरकार आनंद एल राय ने रक्षा बंधन के फ्लॉप होने पर बात की है। आनंद एल राय ने हिंदुस्तान टाईम्स को दिए एक इंटरव्यू में बताया कि रक्षा बंधन क्यों फ्लॉप हुई।
और इसकी पूरी ज़िम्मेदारी आनंद एल राय ने अपने कंधों पर ली। आनंद एल राय ने माना कि उन्होंने फिल्म बनाने में कोई कमी नहीं छोड़ी थी लेकिन हां, उनसे काफी बड़ी बड़ी गलतियां हुईं। इन गलतियों की वजह से ही रक्षा बंधन बुरी तरह फ्लॉप हुई।
आनंद एल राय ने मानी सबसे बड़ी गलती आनंद एल राय ने अपनी सबसे बड़ी गलती मानी कि उन्होंने रक्षा बंधन बनाने से पहले ही ये तय कर लिया कि कौन सा दर्शक ये फिल्म देखेगा।
आनंद एल राय ने इस इंटरव्यू में माना कि वो पहले ही मान बैठे थे कि वो Tier 2 और Tier 3 के शहरों के लिए ये फिल्म बना रहे हैं और पहले ही दर्शक तय कर लेना उनकी सबसे बड़ी गलती थी। उन्होंने पहले ही फिल्म के दर्शक वर्ग को तय कर लिया था और उसके बाद फिल्म पर काम करना शुरू किया था।
सबसे तेज़ बनाई फिल्म आनंद एल राय ने बताया कि रक्षा बंधन उनकी सबसे तेज़ी में बनाई गई फिल्म है। अब इसका मतलब ये नहीं है कि उन्होंने फिल्म बनाने में कोई कमी छोड़ी है। फिल्म पर उन्होंने दोगुनी मेहनत से काम किया और फिल्म बनाने के दौरान भी कोई भी तनाव नहीं लिया।
लेकिन हां, उनसे कुछ गलतियां हो गईं। मैंने सोचा कि मैं ये फिल्म बहुत ही स्मार्ट तरीके से बना रहा हूं लेकिन यही मेरी सबसे बड़ी गलती थी।
दर्शकों में किया भेदभाव आनंद एल राय का कहना था कि उन्होंने फिल्म बनाते वक्त दर्शकों में भेदभाव किया। उनका काम होना चाहिए था केवल अच्छा कंटेंट बनाना, दर्शक अपने आप फिल्म देखता।
लेकिन उन्होंने पहले सोचा कि कौन सा दर्शक ये फिल्म देखना चाहेगा और उस हिसाब से फिल्म पर काम करने लगे। ये उनकी बेवकूफी थी। आनंद एल राय ने कहा, मुश्किल बात फिल्म कैसे बनानी है, ये नहीं होती है, मुश्किल बात ये होती है कि किस तरह की कहानी पर फिल्म बनानी है।
बॉक्स ऑफिस के बारे में भ्रम आनंद एल राय ने बॉक्स ऑफिस के बारे में बने भ्रम के बारे में भी बात करते हुए कहा, लोगों ने कहा कि केवल बड़ी और भव्य फिल्में चल रही हैं।
कोरोना और ओटीटी के बाद लोग केवल बड़ी फिल्में देखना चाहते हैं और इसलिए ब्रह्मास्त्र और RRR, गंगूबाई जैसी फिल्में चल रही हैं।
लेकिन फिर भूल भुलैया 2 और दृश्यम 2 जैसी फिल्में भी बॉक्स ऑफिस पर चलीं जो ये साफ कर देती हैं कि छोटी या बड़ी नहीं दर्शक केवल अच्छी फिल्में देखना चाहते हैं। अच्छी कहानियां चलेंगी ही चलेंगी।
स्टारडम से नहीं फर्क आनंद एल राय ने माना कि उन्हें स्टारडम से फर्क नहीं पड़ना चाहिए। उन्हें दर्शक उस डायरेक्टर के तौर पर जानते हैं जिसने धनुष के साथ रांझणा और माधवन के साथ तनु वेड्स मनु बनाई है।
उन्हें 200 - 300 करोड़ के बारे में नहीं सोचना चाहिए था और केवल अपनी फिल्म पर सच्चाई से काम करना चाहिए था। बॉक्स ऑफिस और स्टारडम का चक्कर उन्हें नहीं पालना चाहिए था। दर्शक केवल जिस आनंद एल राय को जानते हैं, उसी आनंद एल राय से मिलना चाहते थे।
बुरी तरह फ्लॉप थी रक्षा बंधन गौरतलब है कि रक्षा बंधन का बजट केवल 70 करोड़ बताया गया जिसमें अक्षय कुमार की फीस शामिल नहीं की गई थी। 70 करोड़ के बजट पर बनने के बावजूद इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर बड़ी मुश्किल से केवल 48 करोड़ की कमाई की।
जबकि, रक्षा बंधन, 15 अगस्त और रक्षाबंधन वीकेंड पर रिलीज़ हुई थी। हालांकि, फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर लाल सिंह चड्ढा के साथ क्लैश किया था। फिल्म की कुल कमाई 67 करोड़ है जो कि रक्षा बंधन का वर्ल्डवाईड कलेक्शन है।
By Trisha Gaur Filmibeat source: filmibeat.com Dailyhunt