ब्रह्मांड में सबसे ठंडी जगह कौन सी है, पृथ्वी के सबसे सर्द स्थान के मुकाबले कितना कम है तापमान ? जानिए
Coldest place in the Universe: वैज्ञानिकों ने ब्रह्मांड में अबतक के ज्ञात स्थानों में से सबसे ठंडी जगह का पता लगाया है। यह धरती से 5,000 प्रकाश वर्ष दूर है और पृथ्वी के सबसे ठंडे स्थान से करीब चार गुना ज्यादा ठंडा है।
बूमेरंग नेबुला जिसे विज्ञान अबतक का सबसे ठंडा ज्ञात स्थान बता रहा है, वहां का तापमान 1 डिग्री केल्विन है। इस से कम तापमान सिर्फ वही हो सकता है, जिसे विज्ञान के सिद्धांत में परम शून्य ( absolute zero) के नाम से जाना जाता है।
पृथ्वी के वायुमंडल की वजह से 87 लाख प्रजातियों का बसेरा पृथ्वी की बात करें तो यह सहारा रेगिस्तान की तपती गर्मी भी झेलती है और अंटार्कटिका की सबकुछ जमा देने वाले तापमान को भी बर्दाश्त करती है। फिर भी धरती के वातावरण में लगभग 87 लाख प्रजातियों का बसेरा रहा है।
पृथ्वी के तापमान में उतार- चढ़ाव भी होता रहता है, लेकिन फिर यह इतना ही होता है कि इसपर जीवन संभव है। लेकिन, ब्रह्मांड में हर जगह ऐसा संभव नहीं है।
कहीं का तापमान इतना ज्यादा है कि कुछ भी बच नहीं सकता और कहीं पर तापमान इतना कम है कि वहां किसी भी चीज का टिक पाना ही संभव नहीं है।
ब्रह्मांड के बारे में अभी भी काफी सीमित जानकारी ब्रह्मांड का कोई क्षेत्र निर्धारित कर पाना आजतक संभव नहीं हुआ है, यह लगातार फैलता जा रहा है, जिसका कोई भी केंद्र नहीं है। इसलिए कभी- कभी इसके अधिकांश भाग आज भी मानव के कल्पना से भी दूर मालूम पड़ते हैं।
लाइवसाइंस के मुताबिक अंतरिक्ष बहुत ही ठंडा है। यह ग्रहों से भी ठंडा है, चंद्रमा और क्षुद्रग्रहों से भी शीतल है। वैज्ञानिकों के मुताबिक इसका कारण यह है कि अंतरिक्ष में ऊर्जा को सोखने वाले पदार्थ मौजूद नहीं हैं।
लेकिन, उन्हीं वैज्ञानिकों ने ब्रह्मांड में एक ऐसे स्थान का पता लगाया है जो कि अंतरिक्ष से भी ठंडा है।
ब्रह्मांड में सबसे ठंडी जगह कौन है ? अमेरिका के नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन ( NASA) के मुताबिक ब्रह्मांड की सबसे ठंडी जगह बूमेरंग नेबुला ( Boomerang Nebula) है। अमेरिकी अंतरिक्ष संगठन के मुताबिक, इसका तापमान ' 1 डिग्री केल्विन' है।
इसलिए, बूमेरंग नेबुला को ब्रह्मांड में ज्ञात सबसे ज्यादा ठंडा स्थान माना गया है। 1 डिग्री केल्विन को अगर हम सामान्य शब्दों में समझना चाहें तो इसका मतलब हुआ माइनस 458 डिग्री फारेनहाइट या लगभग माइनस 272 डिग्री सेल्सियस।
पृथ्वी के सबसे ठंडे स्थान से बूमेरंग नेबुला की तुलना अगर हम धरती के सबसे ठंडे स्थान से बूमेरंग नेबुला के तापमान की तुलना करें तो हमारे लिए वहां की सर्दी का अंदाजा लगाना और भी आसान हो जाएगा।
पृथ्वी पर सबसे कम तापमान का रिकॉर्ड अंटार्टिका के वोस्टोक में रिकॉर्ड किया गया है। यह तापमान है माइनस 128.6 डिग्री फारेनहाइट। यानि बूमेरंग नेबुला धरती की सबसे ठंडी जगह से भी लगभग चार गुना ज्यादा सर्द है।
बूमेरंग नेबुला क्या है ? ब्रिटैनिका के मुताबिक नेबुला एक बादल या गैस या धूल की धूंध है जो तारे के बीच अंतरिक्ष में होती है। नासा के मुताबिक पृथ्वी से 5,000 प्रकाश वर्ष दूर कॉन्सेटलेशन सैन्टॉरस में स्थित बूमेरंग नेबुला तुलनात्मक रूप से युवा है।
प्लैनेटरी नेबुला वह तारे हैं, जो अपने जीवन के अंतिम तरण में होते हैं। ऐसे नेबुला तेज पराबैंगनी विकिरण उत्सर्जित करते हैं, जिससे गैसें चमकने लगती हैं और चमकीले रंग का प्रकाश बिखेरती हैं।
Milky Way में मिला अबतक सबसे पुराने तारे का अवशेष, इसका ' दुर्लभ' लाल रंग किस बात का है संकेत ? जानिए
बूमेरंग नेबुला से ज्यादा ठंडा क्या है ? यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी के खगोलविदों राघवेंद्र सहाय और लार्स- अके निमान ने 1995 में पाया था कि बूमेरंग नेबुला का तापमान इसके बैकग्राउंड रेडिएशन से भी कम है।
केल्विन स्केल पर यह सिर्फ परम शून्य ( absolute zero) से एक डिग्री गर्म है। परम शून्य सबसे कम तापमान होा है, जो सैद्धांतिक तौर पर ही संभव है।
By Anjan Kumar Chaudhary Oneindia source: oneindia.com Dailyhunt