कामयाबी की मिसाल : पिता ने की थी गैरेज से शुरुआत, बेटी ने बना दिया 3 हजार करोड़ रु का Business
अमीरा शाह है। ये एक डॉक्टर नहीं है। लेकिन ये स्वास्थ सेवा में कुछ बड़ा करना चाहती है।
अमीरा डॉक्टरों की फैमिली से है और अमीरा ने अपने क्रांतिकारी विचारों में से एक ने उनके पिता के तरफ से संचालित एक छोटी प्रयोगशाला को उन्होंने 3 हजार करोड़ रु की एक बड़ी कम्पनी में बदल दिया।
डॉ। सुशील शाह ने पैथोलॉजी प्रयोगशाला की स्थापना की। जिसका नाम सुशील शाह प्रयोगशाला रखा। इन्होंने इस काम को बेहद ही कम निवेश के साथ शुरू किया था।
उनके पास संसाधन भी बेहद कम थे। उन्होंने इस काम को अपने गैरेज से शुरू किया था। इतना ही नहीं उन्होंने रसोई को क्लिनिक के रूप में उपयोग किया।
अमीरा आगे की पढ़ाई संयुक्त राज्य अमेरिका में बस गईं उस वक्त के डॉ। शाह पहले ऐसे डॉक्टर थे। जिन्होंने स्वास्थ्य की दुनिया में प्रयोगशाला तकनीक को उतारा।
डॉ. शाह अपने बिजनेस के प्रति जागरूक थे।
अमीरा वर्ष 2001 में भारत वापस लौट आई। हालाँकि, देश में उस समय सूचना प्रौद्योगिकी और प्रौद्योगिकी आदि की उपस्थिति काफी कम थी। हां ये बात सही है।
कि डॉ. शाह कुछ नया कर रहे थे। लेकिन काम के जो तरीके थे वो बहुत पुराने थे। मुंबई में एक प्रयोगशाला अस्थायी आधार पर शुरू की गई थी।
By Ritesh Pateliya Goodreturns source: goodreturns.in Dailyhunt