कैसी ही लुफ्थांसा एयरलाइंस? London से 72 घंटे में पहुंचाया India, 5 दिन बाद भी लगेज नहीं मिला, यात्री परेशान
लंदन और जर्मनी से इंडिया पहुंचे करीब 700 हवाई यात्री परेशान हैं।
एक तो 12 घंटे का सफ़र 72 घंटे में पूरा हुआ, ऊपर से चार दिन बाद भी पैसेंजर्स का लगेज उनको नहीं मिला हैं।
पैसेंजर्स ने लुफ्थांसा एयरलाइंस पर गंभीर आरोप लगाए हैं।
सुधीर पांडे 14 दिसंबर को लंदन से म्यूनिख पहुंचे, वहां से उनकी दिल्ली की फ्लाइट बुक थी। सामान्य तौर पर दिल्ली तक का सफ़र लगभग 12 घंटे में पूरा होता हैं।
लेकिन वह 72 घंटे बाद इंडिया पहुंच पाए। जिसकी बड़ी वजह लुफ्थांसा एयरलाइन हैं।
लुफ्थांसा एयरलाइंस नहीं दे रहा कोई जानकारी सुधीर पांडे का कहना है कि इंडिया पहुंचने के 5 दिन बाद भी उनको उनका लगेज नहीं मिला है।
इस सिलसिले में म्यूनिख एयरपोर्ट प्रशासन और लुफ्थांसा एयरलाइंस से कॉन्टेक्ट किया, तो कोई भी सही जानकारी नहीं दे रहा। लगेज में उनका पूरा सामान है।
उनको यह नहीं पता था, कि इंटरनेशनल हवाई सेवा के नाम पर लुफ्थांसा एयरलाइन इस तरह का सुलूक करेगी।
लगेज में पत्नी की दवाइयां, भारत में उपलब्ध नहीं सुधीर बताते है कि उनकी पत्नी को गंभीर बीमारी है। जिसका लंदन में इलाज जारी है।
डॉक्टर के द्वारा जो दवाएं दी गई, वह लगेज में ही रखी है। उन दवाओं में कई दवाएं ऐसी है, जो भारत में उपलब्ध नहीं हैं।
पिछले 4 दिनों से उनकी पत्नी बिना दवाओं के हैं। ऐसे में चिंता और बढ़ती जा रही है।
बताया जा रहा है कि 14 और 15 दिसम्बर को म्यूनिख से दिल्ली के लिए उड़ान भरने वाले ऐसे करीब 700 यात्री परेशानियों का शिकार हुए है। सभी का लगेज फंसा हुआ है।
कही भी कोई लगेज के बारे में जानकारी देने तैयार नहीं। इधर एयरइंडिया के माध्यम से भी मदद की गुहार लगाईं गई। लेकिन उनके द्वारा भी हाथ खड़े कर दिए गए।
लुफ्थांसा एयरलाइन की लापरवाही सुधीर ने आरोप लगाया है कि म्यूनिख में एयरपोर्ट पर उनको मुख्य फ्लाईट कैंसिल होना बताया गया।
फिर दूसरी फ्लाईट से दुबई और वहां से दिल्ली आना पड़ा। इस दौरान म्यूनिख एयरपोर्ट पर फ्लाईट के इंतजार में जमीन पर ही भूखे- प्यासे सोना पड़ा।
किसी ने कोई सुध नहीं ली।
By Kartik Agnihotri Oneindia source: oneindia.com Dailyhunt