मेल शार्क को ' देखकर' ही गर्भवती हो गई फीमेल जेब्रा शार्क, कुंवारी रहकर दिया बच्चों को जन्म, वैज्ञानिक हैरान
ईरान में संपर्क नहीं हुआ था।
एक नये रिपोर्ट के मुताबिक, दो मेल शार्क के साथ एक टैंक में रहने वाली एक मादा जेबरा शार्क ने अपने स्वयं के अंडों को खुद निषेचित करके बच्चों को जन्म दिया है।
यह असामान्य परिदृश्य पार्थेनोजेनेसिस के जोखिमों और उससे होने वाले लाभों के बारे में पूर्व धारणाओं को चुनौती देता है।
शिकागो में केविन फेल्डहाइम ने कहा कि, " यह सिर्फ दूसरा मामला है, जिसके बारे में अब हमें पता है, कि पार्थेनोजेनेसिस द्वारा शार्क ने बच्चे को जन्म दिया है।"
यानि, एक फीमेल शार्क ने अपने दिए गये अंडों को उन अंडों को फर्टीलाइज करवाए बिन उनमें से बच्चों को जन्म दिया।
पार्थेनोजेनेसिस कई पक्षी, सरीसृप जीव, उभयचरियां और मछली की प्रजात हैं।
लेकिन, ये प्रक्रिया जोखिम भरी होती है और पार्थेनोजेनेसिस के माध्यम से पैदा हुए जीवों की उम्र काफी कम होती है।
वैज्ञानिकों ने जब डीएनए टेस्ट का अध्ययन किया, तो पता चला, कि उस टैंक में मौजूद किसी भी शार्क के साथ बच्चों के डीएनए मैच नहीं कर रहे थे, जबकि मादा शार्क के साथ उनका डीएनए मेल खा रहा था।
डीएनए टेस्ट में पता चला, बच्चों का जीन पूरी तरह से अपनी मां के समान था।
मादा शार्क को लेकर किए गये रिसर्च में जो निष्कर्ष निकला है, वो वैज्ञानिकों को निराश करने वाला है।
ऐसा इसलिए, क्योंकि ये शार्क एक लुप्तप्राय प्रजाति के हैं और वैज्ञानिक इसे संरक्षित करना चाहते हैं।
लिहाजा, वैज्ञानिकों का रिसर्च इस बात को लेकर चल रहा है, कि वे कैसे प्रजनन करते हैं।
By Abhijat Shekhar Azad Oneindia source: oneindia.com Dailyhunt