अर्जेंटीना में वर्ल्डकप जीतने के बाद सड़कों पर जश्न मनाना पड़ा महंगा, विकराल रूप से बढ़े कोरोना मामले
फीफा विश्वकप के फाइनल में फ्रांस पर अर्जेंटीना की जीत के बाद से ही देश में लगातार जश्न का माहौल है।
लाखों की तादाद में लोग सड़कों पर उतरकर जश्न मना रहे हैं। लेकिन यह जश्न देश के लोगों को महंगा पड़ रहा है।
अर्जेंटीना में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से वृद्धि देखने को मिल रही है।
अर्जेंटीना की विश्वकप विजेता टीम स्वदेश पहुंच चुकी है। मेसी की टीम के स्वागत में पूरा देश सड़कों पर उतर आया है।
अर्जेंटीना में दो दिनों से जश्न का माहौल बना हुआ है। टीम के प्लेयर ओपन बस में बैठकर शहर में घूम रहे हैं।
इस जश्न में शामिल होने अर्जेंटीना के कोने- कोने से लाखों लोग राजधानी ब्यूनस आयर्स पहुंचे हैं।
अर्जेंटीना में अब तक 98 लाख से अधिक कोरोना के मामले सामने चुके हैं। जबकि 1 .30 लाख लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है।
दुनिया भर में कोरोना मामले पर नजर रखने वाली संस्था वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, अर्जेंटीना में पिछले 7 दिन में 62,261 केस मिले हैं।
पिछले 7 दिनों में दुनिया में कोरोना के 3,632, 109 केस सामने आए हैं।
चीन ही नहीं अब जापान, फ्रांस, द. कोरिया, अमेरिका, जर्मनी, हॉन्गकॉन्ग सहित कई देशों में कोरोना के मामले अचानक बढ़ने लगे हैं।
जापान में कोरोना से पिछले 7 दिन में 1670 लोगों की मौत हुई है। अमेरिका में 1607 लोगों ने अपनी जान गंवाई है।
इस बीच चीन में कोरोना से हाहाकार मचा हुआ है।
लंदन की ग्लोबल हेल्थ इंटेलिजेंस कंपनी एयरफिनिटी ने कहा कि चीन में जीरो कोविड पॉलिसी खत्म होने के बाद 21 लाख मौतें हो सकती हैं।
वहीं, ' इकोनॉमिस्ट' की एक ताजा रिपोर्ट के मुताबिक करीब 15 लाख चीनी नागरिकों की जान जा सकती है।
By Sanjay Kumar Jha Oneindia source: oneindia.com Dailyhunt