कौन हैं सऊदी अरब की नौफ मरवाई, जो प्रिंस सलमान के कहने पर अरब देशों में फैला रही हैं योग
भारत में भले ही एक तबका योगा का विरोध करता है और योगा को ना सिर्फ सऊदी अरब में, बल्कि पूरे अरब देशों में फैलाने की कोशिश कर रहा है।
नौफ मरवाई को सऊदी अरब में आधिकारिक तौर पर पहली महिला योगा टीचर के तौर पर चुना गया है।
योगा की अलख सऊदी अरब खेल मंत्रालय ने जेद्दा में एक योग कार्यशाला का आयोजन कियाया हैं।
इन अरब देशों में संयुक्त अरब अमीरात, ओमान, यमन, फिलिस्तीन, मिस्र, लीबि, एलेग्रिया, मोरक्को, ट्यूनीशिया और मॉरिटानिया शामिल हैं।
नौफ मरवाई को भारत सरकार पद्मश्री सम्मान से सम्मानित कर चुकी हैं और वो सऊदी अरब में पहली प्रमाणित योगा टीचर हैं, जो सऊदी अरब योग कमेटी की अध्यक्ष भी हैं।
उन्होंने कहा कि, " आज के जीवन में, वैश्विक चुनौतियों के बीच योग की आवश्यकता है, जो राष्ट्रों के बीच शांति का संदेश ला सके"।
नौफ मरवाई ने कहा कि, " समाज में योग और जीवन की गुणवत्ता बढ़ाने और डिप्रेशन से लड़ने के लिए योग का अभ्यास करने के लाभों को समझने के लिए डिप्रेशन के बारे में वैज्ञानिक अध्ययन के निष्कर्षों को शामिल किया है।"
नौफ मरवाई बचपन से ही ल्यूपस जैसी बीमारी से पीड़ित रही हैं।
उन्होंने कहा कि, " मैं चाहती हूं, कि, हर किसी की योग तक पहुंच हो, चाहे वो किसी बीमारी से ग्रसित हों, या पूरी तरह से स्वस्थ हों, जीवन की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए योग काफी जरूरी है।"
नौफ मारवाई ने कहा कि, " मुझे 17 साल की उम्र में इस बीमारी का पता चला था और उसके बाद मैंने योग और आयुर्वेदिक पद्धति से अपना इलाज करना शुरू किया था।
जिसके बाद मेरी जिंदगी में काफी सुधार आने लगा और ये काफी आश्चर्यजनक और अविश्वसनीय है, कि मेरे शरीर के किसी भी अंग को कोई नुकसान नहीं हुआ और मैं काफी अच्छी जिंदगी जी रही हूं"।
सऊदी योग के लिए समिति ने मई 2021 में पूरे राज्य में स्वास्थ्य और कल्याण के लिए योग को बढ़ावा देने के लिए बहुत सारी गतिविधियों और पहलों का आयोजन किया है।
इस महीने की शुरुआत में, पहला सऊदी योग महोत्सव जेद्दाह में आयोजित किया गया था, जो 7 दिनों तक चला था।
इसमें 112 से ज्यादा योग में निपुण रजिस्टर्ड डॉक्टर शामिल हुए थे।
By Abhijat Shekhar Azad Oneindia source: oneindia.com Dailyhunt