Brain- Eating Amoeba Infection : कोरोना के खौफ के बीच ब्रेन ईटिंग अमीबा, ये लक्षण दिखने के बाद हो जाती है मौत
ब्रेन- ईटिंग अमीबा'। ये अमीबा है। इस अमीबा का नाम नेगले है।
ब्रेन ईटिंग अमीबा कहां और कैसे पाया जाता है ? नेगलेरिया फाउलेरी एक अमीबा है। ये अमीबा मिट्टी और गर्म मीठे पानी में रहता है।
ये अमीबा आमतौर पर गर्मियों में, तेजी से बढ़ता है।
ब्रेन ईटिंग अमीबा किस तरह से इंसानों को संक्रमित कर सकता है ?
नेगलेरिया फाउलेरी लोगों को उस वक्त संक्रमित करता है जब गर्म ताजा पानी, जिसमें अमीबा होता है। ये नाक से प्रवेश करता है।
इसके जोखिम कहां- कहां पर है ? पानी से होने वाली गतिविधियों जैसे तैराकी, गोताखोरी शामिल है।
वाटर स्कीइंग या नाव के पीछे टयूबिंग जैसे स्पोर्ट्स इसके जोखिम हैं।
इसमें मृत्यु दर कितनी है ? नेगलेरिया फाउलेरी असामान्य रूप से रिपोर्ट हुआ है। इसकी मृत्यु दर 99 फीसदी है।
अगस्त 2016 तक, संयुक्त राज्य अमेरिका में 2006 से 40 मामले दर्ज किए गए हैं।
नेगलेरिया फाउलेरी के संक्रमण होने के लक्षण क्या है ?- बुखार - सिरदर्द - गर्दन में अकड़न - अंत में कोमा और मौत के साथ तेजी से बढ़ने वाली बीमारी
पहला केस कहां पर रिपोर्ट किया गया है ? नेगलेरिया फाउलेरी का पहला केस साउथ कोरिया में मिला है। इस ब्रेन ईटिंग अमीबा के कारण एक व्यक्ति की मौत हो गई है।
संक्रमण होने पर क्या करें अगर ये संक्रमण हो गया है तो बिना देर किए इलाज शुरू होना चाहिए। चिकित्सक से तुरंत परामर्श करें।
भले ही डॉग्नोस केवल संदिग्ध ही क्यों ना हो।
By Asma Fatima Boldsky source: boldsky.com Dailyhunt