Remote Voting machine: प्रवासी वोटर कहीं भी डाल सकेंगे वोट, जानें कैसे काम करेगी ECI की ये मशीन ?
चुनाव आयोग ने रिमोट वोटिंग मशीन से 72 निर्वाचन क्षेत्रों के लिए बनाई जा रही है।
चुनाव आयोग ने आज इस बात की जानकारी दी है और 16 जनवरी को राजनीतिक दलों को उसे दिखाने के लिए बुलाया भी है।
रिमोट वोटिंग मशीन प्रवासी वोटरों को मताधिकार की सुविधा दिलाने के लिए जाता है।
चुनाव आयोग ने गुरुवार को कहा है कि इसने घरेलू प्रवासी वोटरों के लिए एक रिमोट इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन की प्रोटोटाइप विकसित की है।
चुनाव आयोग ने इस प्रोटोटाइप के प्रदर्शन के लिए 16 जनवरी को राजनीतिक दलों को बुलाया है।
इसने रिमोट वोटिंग को अमल में लाने को लेकर एक वैचारिक नोट भी जारी किया है।
मुख्य चुनाव आयुक्त ( CEC) राजीव कुमार ने कहा है कि, ' युवाओं और शहरी उदासीनता पर फोकस के बाद रिमोट वोटिंग चुनावी लोकतंत्र में भागीदारी को मजबूत बनाने के लिए एक बदलाव वाली पहल होगी।
16 जनवरी को राजनीतिक दलों को बुलावा रिमोट वोटिंग मशीन कैसे काम करेगा, इसके प्रदर्शन के लिए चुनाव आयोग ने 16 तारीख को 8 मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय दलों और 57 प्रादेशिक पार्टियों के प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया है।
बयान में बताया गया है, ' ये पहल लागू हुई तो प्रवासियों के लिए एक सामाजिक बदलाव की तरह होगा।
चुनाव आयोग ने आईआईटी और नेशनल इंफॉर्मेटिक्स सेंटर के चार- सदस्यों वाला एक एक्सपर्ट पैनल बनाया था।
इसके लिए एक आधार- लिंक्ड इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग सिस्टम का मॉडल पेश होना था।
पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने पिछले साल मार्च में ही कहा था कि 2024 के लोकसभा चुनावों तक रिमोट वोटिंग एक वास्तविकता हो सकती है।
उन्होंने तब यह भी साफ किया था कि यह प्रोजेक्ट इंटरनेट- आधारित वोटिंग की नहीं है और ना ही इसके तहत घर से वोटिंग करने की सुविधा मिलेगी।
By Anjan Kumar Chaudhary Oneindia source: oneindia.com Dailyhunt