चीनी यात्रियों पर सख्ती से भड़का ड्रैगन, कोरोना के नाम पर ' भेदभाव' का आरोप, जानें खुद की कैसी रही है करतूत ?
चीन में कोरोना के बेकाबू होने के बाद और सही सूचनाओं के अभाव में भारत समेत दुनिया के कई देशों ने वहां से आने वाले हवाई यात्रियों के कुछ सख्त नियम लागू किए हैं।
दुनिया भर के देशों को इस बात की चिंता है कि कहीं ज्यादा संक्रमण और सबसे ज्यादा आबादी होने की वजह से वहां से कोई नया वेरिएंट वहां से दूसरे देशों तक पहुंच जाए।
चीन में चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने वहां से आने वाले यात्रियों की टेस्टिंग करने या निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट मांगने जैसे कदम उठाए जाने पर नाराजगी जाहिर की ह।
भारत, अमेरिका, दक्षिण कोरिया, इटली, जापान और ताइवान जैसे देशों ने वहां से आने वाले यात्रियों के लिए कोविड टेस्ट रिपोर्ट अनिवार्य कर दिया है।
कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना की सरकार अपने साथ भेदभाव का रोना तब रो रही है, जब पूरे तीन साल तक उसने अपनी सीमाएं लगभग सील कर रखी ही।
शी जिनपिंग की सरकार ने 7 दिसंबर को एकाएक जीरो कोविड की अपनी नीति पलट दी और कोरोना वायरस को खुल्ला छोड़ दिया।
इसके बाद से चीन में कोरोना संक्रमण ऐसे फैला कि पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है।
चीन खुद 8 जनवरी से बाहर से आने वाले लोगों की क्वारंटीन की आवश्यकता जरूर खत्म करने की बात कह रहा है।
लेकिन, वह यात्रियों की रवानगी से 48 घंटे पहले की निगेटिव आरटी- पीसीआर रिपोर्ट जरूर मांगेगा।
फ्रांस, जर्मनी और पुर्तगाल ने कहा है कि उन्हें नई पाबंदियों की आवश्यकता नहीं लग रही है।
नए वेरिएंट का पता लगाने की नई तरकीब! महामारी से पहले तक चीनी यात्री विदेशों में एक साल में 250 अरब डॉलर से अधिक खर्च करते थे।
लेकिन, जब बात अपनी आबादी पर खतरे की आती है तो कुछ ही देश उन्हें जोखिम में डालने के लिए भी तैयार हो सकते हैं।
चीन के आंकड़ों पर दुनिया को संदेह 1 .40 अरब की आबादी वाले चीन ने गुरुवार को कोविड से सिर्फ एक मौत दिखाया है। एक दिन पहले भी यही आंकड़ा था।
वुहान में तीन साल पहले कोरोना महामारी की शुरुआत से लेकर अबतक चीन इस बीमारी से सिर्फ 5,247 मौतें ही बताता है।
चीन में शायद हर दिन करीब 9,000 लोगों की कोरोना से मौत हो रही है।
1 दिसंबर से अबतक वहां करीब 1,00,000 लोक इस रोग से दम तोड़ चुके हैं, जबकि कुल संक्रमण के मामले 1 .86 करोड़ तक पहुंच चुके हैं।
इसने संभावना जताई है कि 13 जनवरी को चीन में कोरोना की यह लहर चरम पर पहुंच सकती है।
By Anjan Kumar Chaudhary Oneindia source: oneindia.com Dailyhunt