2024 में दक्षिण भारत के 5 राज्यों पर बीजेपी का फोकस, कुल 129 में से इतनी सीटें जीतने का लक्ष्य
भारतीय जनता पार्टी ने 2019 के लोकसभा चुनावों में 303 सीटें जीती थीं।
इस बार पार्टी लगातार तीसरी बार सत्ता में आने के लिए दक्षिण भारत में भी अपना दायरा बढ़ाने पर फोकस कर रही है।
दक्षिण भारत के बाकी 4 राज्यों पर भी बीजेपी का फोकस कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी की सरकार चल रही है। राज्य में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं।
कर्नाटक दक्षिण भारत का एकमात्र राज्य है, जहां बीजेपी बड़ी ताकत बन चुकी है।
2019 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी को राज्य की 28 सीटों में से 25 पर जीत मिली थी।
एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि ' बीजेपी कार्यक्रताओं को यह ट्रेनिंग दी गई कि कैसे सरकार के काम को जनता तक पहुंचाना है।
पार्टी का मुख्य फोकस तेलंगाना है, इसके बाद तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और केरल है।
पांच दक्षिणी भारतीय राज्यों में केरल में 20, आंध्र प्रदेश में 25, तमिलनाडु में 39, तेलंगाना में 17 और कर्नाटक में लोकसभा की 28 सीटें हैं।
हैदराबाद में आयोजित ट्रेनिंग कैंप में बीजेपी के कार्यकर्ताओं को दक्षिण भारत की लोकसभा सीटों को मजबूत करने के लिए काम पर जुट जाने को कहा गया है।
दक्षिण भारत में लक्ष्य के अनुसार जीत सुनिश्चित करने के लिए पार्टी ने दो महासचिवों की नियुक्ति की है- सुनील बंसल और तरुण चुग।
सूत्रों के मुताबिक, ' उत्तर प्रदेश में मोदी- योगी डबल इंजन महा विकास मॉडल देखने के लिए लोगों को तमिलनाडु, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश से वाराणसी बुलाया जा रहा है।
काशी तमिल संगम से तमिलनाडु पर फोकस! तमिलों का काशी के साथ एक प्राचीन संबंध रहा है।
काशी तमिल संगम का आयोजन 17 नवंबर से 16 दिसंबर के बीच एक महीने तक किया गया था। इसका मकसद काशी और तमिलनाडु के बीच के प्राचीन संबंधों को फिर से तलाशना था।
यह कार्यक्रम आईआईटी मद्रास और बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की ओर से संयुक्त रूप से आयोजित किया गया था, जिससे इसके महत्त्व को भी समझा जा सकता है।
By Anjan Kumar Chaudhary Oneindia source: oneindia.com Dailyhunt