Sunken Eyes : क्या आपकी आंखें धंसने लगी हैं, तो जानिए इसके कारण और कैसे कर सकते है इसका इलाज
आज की थका देने वाली लाइफ स्टाइल ने सबसे ज्यादा अगर नुकसान किया है तो वो आंखों का है।
घंटों लगातार लैपटॉप पर बैठ काम करना, देर रात तक मोबाइल देखना, वक्त पर सोना नहीं, नींद की कमी, इन सबकी वजह से आंखों को काफी नुकसान पहुंचता है।
धंसी हुई आखें का कारण पारिवारिक इतिहास, डिहाइड्रेशन और नींद की कमी शामिल है।
धंसी हुई आंखें जब आंखों के नीचे खोखली दिखाई देती हैं, तो इसे आंसू गड्डे के रूप में भी जाना जाता है।
धंसी हुई आँखों को ' टियर ट्रफ हॉलो' या ' अंडर- आई हॉलोज़' के रूप में भी जाना जाता है।
आंखों के नीचे खोखला होना आंखों के नीचे एक डार्क सर्किल दिखना आंखों के नीचे पतली त्वचा, कभी- कभी दिखाई देने वाली ब्लड सेल्स स्किन के पतले होने के कारण आंखों के आसपास रेडनेस आंखों की निचली पलक पर एक सैगिंग का होना इसकी वजह से चेहरे पर थकान नजर आती है
कोलेजन प्रोटीन खोने लगता है, जो प्रोटीन शरीर को लचीलापन और ताकत देता है। जब प्रोटीन का स्तर कम हो जाता है, तो स्किन पतली और लूज होने लग जाती है।
चेहरे की त्वचा बहुत सॉफ्ट होती है, फिर जब त्वचा को सहारा नहीं मिलता है, तो यह अंदर की ओर खिसकने लगती है।
धूम्रपान- धूम्रपान शरीर में कोलेजन के स्राव को कम करता है जिसका रिजल्ट ये होता है कि चेहरे के आसपास की त्वचा ढीली हो सकती है।
डिहाइड्रेशन- डिहाइड्रेशन की वजह से ना सिर्फ मुंह सूखता है बल्कि इसके परिणामस्वरूप शरीर में कई बैक्टीरिया और वायरस बन सकते हैं।
पानी की कमी से बच्चों की आंखें धंसी हुई हो सकती हैं।
नींद की कमीता हो है जब आप पूरी नींद नहीं लेते हैं, तो आपकी आंखों के नीचे काले घेरे होने लगते हैं।
अगर ये आपकी उपस्थिति का कारण है, तो स्थिति आमतौर पर कुछ घंटों के बाद गायब हो जाती है?
By Asma Fatima Boldsky source: boldsky.com Dailyhunt