Remote voting machine: क्यों विपक्षी पार्टियां RVM का विरोध कर रही हैं ? जानिए
Remote electronic voting machine RVM proposal: रोजी- रोजगार के चलते अपने जिलों और लोकसभा क्षेत्रों से दूर रहने वाले प्रवासी वोटरों को देने के लिए चुनाव आयोग बड़ी पहल कर रहा है।
इसके लिए एक रिमोट इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन बनाई गई है, जिसका डेमो चुनाव आयोग राजनीकि दलों को दे रहा है।
रिमोट वोटिंग प्रस्ताव का विपक्षी दलों ने किया विरोध रिमोट इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन के चुनाव आयोग के प्रस्ताव से ज्यादातर विपक्षी पार्टियां असहमत हैं।
चुनाव आयोग की ओर से सोमवार को RVM का प्रोटोटाइप दिखाने से पहले ही रविवार को 16 विपक्षी दलों ने इसपर असहमति जता दी थी।
कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि ' बैठक में शामिल होने वाली राजनीतिक पार्टियों ने RVM के प्रस्ताव का सर्वसम्मति से विरोध इसलिए किया है कि यह अभी भी बहुत अधूरा है।
प्रपोजल कंक्रीट नहीं है। प्रस्ताव में राजनीतिक विसंगतियां और समस्याए हैं।'
RVM को लेकर विपक्ष के पास और क्या मुद्दे हैं ?
विपक्ष की बैठक में राजद की ओर से शामिल पार्टी नेता मनोज झा ने कहा कि उनके पास विश्वसनीयता के तीन मुद्दे हैं।
विपक्षी दलों के कुछ सवाल रिमोट वोटिंग मशीन से मतदान कराने की स्थिति में व्यावहारिकता से भी जुड़े हैं।
मसलन, अपने निर्वाचन क्षेत्र से दूर इलाके में वोटिंग के दौरान उनके लिए बूथ एजेंट, चुनाव एजेंटों तक पहुंच बनाने में दिक्कतों का सामना पड़ेगा।
चुनाव आयोग की रिमोट वोटिंग व्यवस्था 29 दिसंबर को चुनाव आयोग ने कहा था कि चुनावों में मतदाताओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए उसने घरेलू प्रवासी वोटरों की सुविधा को देखते हुए एक रिमोट इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन का प्रोटोटाइप विकसित किया है।
अगर चुनाव क्षेत्र में मतदान के लिए उस उनका नाम वोटर लिस्ट में दर्ज है।
By Anjan Kumar Chaudhary Oneindia source: oneindia.com Dailyhunt