अमीरों की अमीरी है कमाल : 1 फीसदी भारतीयों के पास है देश की कुल 40 फीसदी से ज्यादा दौलत
भारत में सबसे अमीर एक प्रतिशत लोगों से जुड़े काफी अहम आंकड़े सामने आए हैं।
देश के सबसे अमीर 1 फीसदी लोगों के पास इस समय देश की कुल दौलत का 40 प्रतिशत से भी अधिक हिस्सा है।
वहीं देश की आबादी के उस 50 फीसदी हिस्से, जो कि संपत्ति के लिहाज से नीचे है, के पास केवल 3 प्रतिशत संपत्ति है।
ऑक्सफैम इंटरनेशनल ने कहा कि अगर भारत के दस सबसे अमीरों पर 5 प्रतिशत टैक्स लगाया जाए तो उससे मिलने वाली राशि बच्चों को स्कूल में वापस लाने के लिए काफी होगी।
टॉप 100 भारतीय अरबपतियों पर 2 .5 प्रतिशत टैक्स लगाने से भी इतनी ही रकम मिलेगी।
'सर्वाइवल ऑफ रिचेस्ट'।
रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर भारत के अरबपतियों पर उनकी कुल दौलत पर 2 फीसदी की दर से एक बार टैक्स लगाया जाए, तो इससे 40,423 करोड़ रुपये आएंगे।
अनुसूचित जाति और ग्रामीण श्रमिकों के लिए ये अंतर और भी अधिक है।
अनुसूचित जाति ने 2018 और 2019 के बीच लाभ प्राप्त सामाजिक समूहों की आय का केवल 55 प्रतिशत हासिल किया।
वहीं ग्रामीण श्रमिकों ने शहरी आय का केवल आधा ही कमाया।
भारत में अरबपतियों की संपत्ति 121 प्रतिशत या 3,608 करोड़ रुपये प्रति दिन की वृद्धि हुई है।
दूसरी ओर, माल और सेवा कर कुल 14 .83 लाख करोड़ रुपये का लगभग 64 प्रतिशत 2021 - 22 में नीचे की 50 प्रतिशत आबादी से आया।
जबकि टॉप 10 अमीरों से केवल 3 प्रतिशत जीएसटी आया।
By Kashid Hussain Goodreturns source: goodreturns.in Dailyhunt