K. Viswanath: साउथ सिनेमा के दिग्गज फिल्म निर्माता के. विश्वनाथ का 92 साल की उम्र में निधन
K. Viswanath passes away: साउथ सिनेमा के दिग्गज तेलुगु फिल्म निर्माता के. विश्वनाथ का 92 साल की उम्र में निधन हो गया है।
के. विश्वनाथ ने गुरुवार को हैदराबाद में अपने आवास पर अंतिम सांस ली। के. विश्वनाथ उन्होंने चार दशक से अधिक के करियर में आठ बार फिल्मफेयर पुरस्कार जीते थे।
कैसे हुई विश्वनाथ के फिल्मी करियर की शुरुआत विश्वनाथ ने मद्रास में वाउहिनी स्टूडियो के लिए एक ऑडियोग्राफर के रूप में अपना करियर शुरू किया था।
साउंड इंजीनियर के रूप में काम करने के बाद विश्वनाथ ने फिल्म निर्माता अदुर्थी सुब्बा राव के तहत अपना फिल्म मेकिंग में करियर को शुरू किया।
1951 की तेलुगु फिल्म पत्थल भैरवी में सहायक निर्देशक के रूप में काम किया। ये उनकी पहली फिल्म थी।
विश्वनाथ ने अपने डायरेक्शन की शुरुआत 1965 की फिल्म आत्मा गोवरवम से की, जिसने राज्य नंदी पुरस्कार जीता।
1980 में के. विश्वनाथ की फिल्म शंकरभर्नम काफी मशहूर हुआ।
फिल्म ने दो अलग- अलग पीढ़ियों के लोगों के दृष्टिकोण के आधार पर कर्नाटक संगीत और पश्चिमी संगीत के बीच के अंतर को दिखाया था।
शंकरभर्नम की सफलता के बाद, विश्वनाथ ने कई और फिल्में बनाई, जिसकी थीम कला, विशेष रूप से संगीत रखी गई।
विश्वनाथ की 1985 में आई तेलुगु फिल्म स्वाति मुथ्यम काफी चर्चाओं में रही। अकादमी पुरस्कारों के लिए इस फिल्म को नॉमिनेट किया गया था।
विश्वनाथ ने 1979 की फिल्म सरगम से बॉलीवुड में अपनी शुरुआत की।
उनकी कुछ अन्य लोकप्रिय हिंदी फिल्मों में कामचोर, शुभ कामना, जाग उठा इंसान, संजोग, ईश्वर और धनवान शामिल हैं।
उन्होंने बॉलीवुड में राकेश रोशन के साथ कई फिल्मों में काम किया। उन्होंने तेलुगु और तमिल उद्योगों में दो दर्जन से अधिक फिल्मों में एक्टिंग भी की है।
By Pallavi Kumari Oneindia source: oneindia.com Dailyhunt